दिल्ली पुलिस और वकीलों के बीच का झगड़ा थमने का नाम नहीं ले रहा है. रिपोर्ट्स के अनुसार बुधवार को रोहिणी कोर्ट के सामने दो वकीलों ने आत्महत्या करने की कोशिश की जिन्हें साथी वकीलों ने बचा लिया. एक वकील ने ख़ुद को आग लगाने की कोशिश की और दूसरे ने कोर्ट के ऊपर से छलांग लगाने की चेतावनी दी.

Source: India Today

कुछ वकीलों ने साकेत कोर्ट की कार्रवाई रोकने की भी कोशिश की. ये विरोध प्रदर्शन द्वारका कोर्ट और कड़कड़डूमा कोर्ट तक फ़ैली और वकीलों ने वहां भी कार्रवाई रोकी. News18 की रिपोर्ट के मुताबिक़ कड़कड़डूमा कोर्ट के बाहर वकीलों ने 'चाय प्रोटेस्ट' किया. वक़ीलों ने चाय का स्टॉल लगाकर पुलिसवालों को साथ चाय पीने के लिए आमंत्रित किया.


बीते मंगलवार को दिल्ली पुलिस के सैंकड़ों जवान आईटीओ स्थित पुलिस हेडक्वार्टर के सामने विरोध प्रदर्शन किया.

Source: India TV News

बार काउंसिल के चेयरपर्सन मनन मिश्रा ने कहा कि वकीलों, पुलिस और पब्लिक द्वारा की गई हिंसा बर्दाशत नहीं की जाएगी. मिश्रा ने ये भी कहा कि हिंसा में शामिल वकीलों पर उचित कार्रवाई की जाएगी.

Source: News Track Live

मिश्रा ने आरोप लगाया कि बीते मंगलवार पुलिसवालों के विरोध प्रदर्शन में जज, वकीलों को अपशब्द कहे थे. उन्होंने 2 नवंबर को हिंसा में शामिल पुलिसवालों को गिरफ़्तार करने की अपील भी की.