सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने शनिवार को केरल के 2 न्यूज़ चैनल्स, Asianet News और Media One पर लगाया गया बैन हटा दिया है. दिल्ली दंगों के कवरेज करते हुए इन चैनल्स पर एक तरफ़ा होने का आरोप लगा था.


Hindustan Times की रिपोर्ट के अनुसार, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने बीते शुक्रवार को इन चैनल्स पर प्रतिबंध लगाया था. मंत्रालय का कहना था कि इन चैनल्स के कवरेज की वजह से सांप्रदायिक सौहार्द को ख़तरा हो सकता था.

Source: The New York Times

Asianet News पर शनिवर रात 1:30 बजे प्रतिबंध हटा और Media One पर शनिवार सुबह 9:30 बजे प्रतिबंध हटा. रिपोर्ट्स के अनुसार, इन चैनल्स ने मंत्रालय को प्रतिबंध हटाने के लिए पत्र लिखा था.


बीते शुक्रवार को मंत्रालय ने कहा था कि 2 चैनल्स ने Cable Television Networks (Regulation) Act, 1995 के तहत Programme Code का उल्लंघन किया है. मंत्रालय ने बीते 6 मार्च को शाम 7:30 बजे से दोनों चैनल पर बैन लगा दिया.

Source: Time

The News Minute की रिपोर्ट के मुताबिक़, Asianet News के पत्रकार पी.आर.सुनिल की जाफ़राबाद हिंसा और दिल्ली पुलिस के मौन खड़े देखने वाली रिपोर्ट की वजह से बैन लगाया गया था. MediaOne के दिल्ली कॉरेसपॉन्डेन्ट, हसन्नुल बन्ना की फ़ोन-इन वार्तालाप जिसमें वे दिल्ली पुलिस के दंगा पीड़ित क्षेत्र में न जाने और दंगाइयों को नहीं पकड़ने वाली बात बता रहे थे, चैनल पर लगे बैन की वजह बनी.

मंत्रालय का ये कहना था कि MediaOne ने अपनी रिपोर्ट के ज़रिए दिल्ली पुलिस पर तोड़-फोड़ करने और कोई क़दम न उठाने का आरोप लगाया था. Asianet News के बारे में मंत्रालय का ये कहना था कि उनकी रिपोर्ट से शांति का माहौल ख़राब हो सकता था और दंगे फिर से भड़क सकते थे.