कोरोना हॉटस्पॉट से कंटेनमेंट ज़ोन मॉडल बने मुंबई के 'धारावी स्लम' ने एक और मिसाल पेश की है. कोरोना के गंभीर मरीज़ों को नई ज़िंदगी देने के लिए धारावी में अब प्लाज़्मा डोनेशन कैंप शुरू किये गए हैं. इस दौरान कोरोना से ठीक हुए लोग प्लाज़्मा डोनेशन में बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं.

Source: ndtv

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, धारावी में अब तक 2100 से अधिक लोग कोरोना महामारी को मात दे चुके हैं. जिनमें से 500 लोग प्लाज़्मा डोनेशन के लिए आगे आये हैं. इस दौरान कोरोना से ठीक हुए धारावी के 25 फ़ीसदी लोगों ने डोनर के तौर पर रजिस्ट्रेशन कराया. इन प्लाज़्मा डोनरों को नगर आयुक्त द्वारा सम्मानित भी किया जा रहा है.

Source: deccanherald

हाल ही में धारावी में प्लाज़्मा डोनेशन कैंप के लिए एक प्राइमरी स्क्रीनिंग कराई गयी थी. इसकी शुरूआत कोरोना पॉज़िटिव से नेगेटिव हुए धारावी के पुलिसवालों ने की है. अब तक कई लोग प्लाज़्मा डोनेट कर चुके हैं, जिन्हें सम्मानित भी किया जा रहा है.

Source: newindianexpress

इस दौरान असिस्टेंट म्युनिसिपल कमिश्नर किरण दिघावकर ने कहा कि, कोरोना से धारावी के 2100 से अधिक ठीक हो चुके लोगों में से 500 लोग प्लाज़्मा डोनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं. 3 दिन पहले प्लाज़्मा डोनेशन कैंप के दौरान 120 लोग आये थे. इस दौरान 29 लोगों ने अपना प्लाज़्मा डोनेट किया था.

मुंबई में अब भी कोरोना के क़रीब 1200 मरीज़ गंभीर बताए जा रहे हैं. महाराष्ट्र सरकार इन्हें बचाने के लिए तरह तरह के उपायों के साथ ही प्लाज़्मा थेरेपी का सहारा भी ले रही है.

Source: financialexpress

बता दें कि एक समय में धारावी में हर रोज कोरोना वायरस के सैकड़ों मामले सामने आ रहे थे, लेकिन अब ऐसा लग रहा है कि धारावी के लोगों ने कोरोना पर नियंत्रण पा लिया है.