बहुत दिनों से सुन रहे होंगे कि भारत संचार निगम लिमिटेड यानी BSNL घाटे में चल रही है, अब नई ख़बर ये आ रही है कि चुनाव संपन्न होते ही इसके 54,000 हज़ार Employees नौकरी से हाथ धो बैठेंगे. प्रपोज़ल पास हो चुका है, बस सरकार की मंज़ूरी मिलने की देरी है... वो चुनाव के बाद मिल जाएगी.

Source: India Times

Deccan Herald के रिपोर्ट के अनुसार, मार्च में विशेषज्ञों के पैनल ने 10 प्रपोज़ल रखे थे, जिसमें से 3 पास हो चुके हैं. आशंका है कि BSNL के कर्मचारियों की रिटायरमेंट की उम्र भी 60 से घटा कर 58 करने की योजना है. सभी कर्मचारियों के लिए Voluntary Retirement Scheme 50 साल के बाद लागू होगी.

Source: India Times

चूंकी BSNL सरकार के अधीन काम करती है इसलिए इन फ़ैसलों को चुनाव तक के लिए रोक कर रखा गया है.

वर्तमान समय में BSNL में 1,74,312 कर्मचारी कार्यरत हैं, 31% छटनी के अनुसार, 54,000 कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा.

इसी साल फ़रवरी में मीडिया रिपोर्ट आ रही थी कि 2017-18 के आर्थिक साल में इसे 7,993 करोड़ का घाटा हुआ था.