इन दिनों देश के कई राज्य भारी बारिश और बाढ़ से बेहाल हैं. महाराष्ट्र के साथ-साथ दक्षिण भारत के तीन राज्यों केरल, कर्नाटक और तमिलनाडु में भी हालत बेहद गंभीर हैं. पिछले कुछ दिनों से हो रही भारी बारिश के चलते इन राज्यों में अब तक 61 लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि अब भी सैकड़ों लोग लापता हैं.

Source: businesstoday

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के मुताबिक़ अगले 48 घंटों में मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, गोवा, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक और केरल में भारी बारिश की आशंका है.

बारिश और बाढ़ से ये राज्य सबसे ज़्यादा प्रभावित हुए हैं-

1- केरल

केरल में भारी बारिश, तेज हवाओं और भूस्खलन के चलते अब तक 23 लोगों की मौत हो चुकी है. राज्य सरकार ने बाढ़ की स्थिति को देखते हुए आज राज्य के सभी स्कूलों के लिए छुट्टी की घोषणा कर दी है. केरल के कोच्चि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के पार्किंग क्षेत्र में बाढ़ का पानी भर जाने से उड़ानों का परिचालन रविवार (11 अगस्त) दोपहर 3 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है.

वायनाड ज़िले में भूस्खलन ने सबसे अधिक तबाही मचाई है. गुरुवार देर रात मेप्पडी और पुथुमाला में हुए भूस्खलन से 4 शव बरामद किए गए हैं. यहां अब भी कई लोगों के फंसे होने की आशंका है. एनडीआरएफ़ की टीमें मेप्पडी और पुथुमाला में अब तक लगभग 100 से अधिक लोगों को इस रेस्क्यू ऑपरेशन कर बचा चुकी हैं.

केरल के राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (KDSMA) ने बाढ़ से जुड़े कुछ आंकड़े भी बताए हैं. इसके तहत बाढ़ प्रभावित इलाकों से 22,165 लोगों को 315 कैंपों तक सुरक्षित पहुंचाया जा चुका है.

Source: navbharattimes

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने केरल के इडुकी, मलप्पुरम, कोझीकोड और वायनाड के लिए अलर्ट जारी जारी किया है. राज्य की अधिकतर नदियों और बांधों का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है. कन्नूर, वायनाड, इडुकी, मलप्पुरम, कोझीकोड और कासरगोड में बाढ़ जैसे हालात हैं.

2- कर्नाटक

कर्नाटक में भी बारिश के चलते 9 की मौत की खबर है. जबकि 16,875 लोगों और 3,010 जानवरों को 272 राहत कैंपों में रखा गया है. मंगलुरू में बाढ़ का असर उड़ानों पर भी पड़ रहा है. एयर इंडिया ने यहां की 6 उड़ानों को रद्द कर दिया है. कर्नाटक के कुछ हिस्सों में अब भी भारी बारिश हो रही है.

कर्नाटक राज्य सड़क परिवहन कॉर्पोरेशन के अनुसार, भारी बारिश और जलभराव के कारण मैसूर से मदिकेरी और मैसूर से एचडी कोटे मुख़्य मार्ग को बंद कर दिया गया है. इससे यातायात बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है.

Source: navbharattimes

कर्नाटक में भारतीय वायु सेना ने बाढ़ प्रभावित ज़िले बेलागवी के रोग्गी, हलोली, उधागट्टी और गिरदल इलाकों से इलाकों में राहत राहत अभियान चलाकर 25 लोगों को एयरलिफ़्ट किया है. बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पीने के पानी के साथ-साथ लगभग 475 खाद्य पैकेट भी वितरित किए गए हैं.

3- महाराष्ट्र

बारिश और बाढ़ से प्रभावित होने वाले राज्यों में महाराष्ट्र सबसे आगे है. मुंबई के कुछ हिस्सों में आज भी भारी बारिश की संभावना है. यहां अब तक 23 लोगों की मौत हो चुकी है. बारिश से महाराष्ट्र के कोल्हापुर और सांगली ज़िले बुरी तरह प्रभावित हैं. यहां पिछले कुछ दिनों में 14 लोगों की मौत हो चुकी है.

Source: jagran

बारिश और बाढ़ से सबसे ज़्यादा प्रभावित इलाके सांगली, कोल्हापुर, सोलापुर, पुणे और सतारा हैं. यहां अब तक 2,05,591 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा चुका है, जबकि 27 लोगों की मौत भी हो चुकी है. कोल्हापुर में 97,102, सांगली में 80,319, पुणे में 13,336, सोलापुर से 7,749 और सतारा से 7,085 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा जा चुका है. सांगली में 11, सतारा में 7, पुणे में 6, कोल्हापुर में 2,और सोलापुर में 1 की मौत हो चुकी है.

4- तमिलनाडु

केरल, कर्नाटक और महाराष्ट्र की तरह ही तमिलनाडु के कई ज़िले भी भारी बारिश की चपेट में हैं. बारिश के कारण कोयंबटूर में 2 लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि नीलगिरि, कन्याकुमारी, थेनी और तिरुनेलवेली में भारी बारिश के चलते यातायात ठप्प है.

Source: navbharattimes

कोचीन इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (सीआईएसल) की ओर से जारी बयान में कहा गया, 'बाढ़ के कारण पार्किंग क्षेत्र जलमग्न हो गया है, कोच्चि हवाई अड्डे पर सभी उड़ानें 11 अगस्त (रविवार) दोपहर 3 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई हैं.

Source: navbharattimes

ये राज्य भी हैं प्रभावित

भारी बारिश के चलते आंध्र प्रदेश के कलिंगपट्टनम समुद्र तट में जलस्तर बढ़ने से वहां की कई मूर्तियां पानी में डूब चुकी है. छत्तीसगढ़ के बीजापुर ज़िले के गुदरा नाले में बाढ़ आने से इसमें फंसे 15 लोगों को बचा लिया गया. उत्तराखंड के चमोली ज़िले के देवाल ब्लॉक के पद्मल्ला और फ़लदिया गांव में बादल फ़टने से एक महिला और एक बच्चे की मौत हो गई है. वहीं ओडिशा, गोवा, गुजरात और मेघालय, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में भी बारिश से हालात ख़राब हैं.