लोकसभा चुनाव जीतने के बाद 30 मई को मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के लिए शपथ ली थी. राष्ट्रपति भवन में हुआ ये शपथ ग्रहण समारोह कई तरह से ख़ास रहा. इस समारोह में मोदी सरकार का Go-Green विज़न भी साफ़ दिखाई दिया. यहां आए सभी गणमान्य अतिथियों को खादी ग्रामोद्योग द्वारा बनाए गए 7000 कागज़ के हैंड बैग्स दिए गए थे. इन बैग्स की खासियत ये थी कि इन्हें प्लास्टिक वेस्ट से बनाया गया था.

इन पर खादी का प्रतीक चिन्ह भी लगा था. इनमें लोग अपनी पानी की बोतल और अन्य समान रख सकते हैं. KVIC के चेयरमैन विनय कुमार सक्सेना ने बताया कि इन बैग्स को प्लास्टिक वेस्ट से बनाया गया था.

Source: Business Today

इसके साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि इसके लिए प्लास्टिक को पहले साफ़ किया गया और फिर बाद में उसे कागज़ के साथ मिलाकर बैग बनाए गए. इन्हें जयपुर में स्थित KVIC की इकाई कुमारप्पा नेशनल हैंडमेड पेपर इंस्टीट्यूट (KNHPI) ने बनाया था.

इस बारे में बात करते हुए KVIC के चेयरमैन ने कहा- 'समारोह को देखकर ऐसा लग रहा था जैसे Khadi India अपने संरक्षक (पीएम मोदी) को सलाम कर रहा था. प्रधानमंत्री मोदी के पहले कार्यकाल में खादी की वृद्धि दिखाती है कि आने वाले समय में खादी के नाम कई और उपलब्धियां दर्ज होने वाली हैं.'

इन सभी बैग्स को KVIC की नई योजना REPLAN (Reducing Plastic In Nature) के तहत निर्मित किया गया था. विनय कुमार सक्सेना ने बताया कि, KNHPI ने 7 लाख से ज़्यादा हैंडमेड पेपर बैग्स की आपूर्ति की है. इनके निर्माण में 17 मीट्रिक टन से अधिक प्लास्टिक कचरे का उपयोग किया है.