किसी भी मुकाम को हासिल करने के लिए उम्र मायने रहीं रखती. बस मंज़िल तक पहुंचने के लिए जुनून चाहिए होता है. हैदराबाद की 8 साल की एक बच्ची ने भी कुछ ऐसा ही कारनामा किया है.

Source: punjabkesari

बीते शनिवार को हैदराबाद की 8 साल की छात्रा पीडीवी सहरुदा ने दो वर्ल्ड रिकॉर्ड्स बनाए. सहरुदा के इन रिकॉर्ड्स को 'एलीट वर्ल्ड रिकॉर्ड्स' एलएलसी यूएसए ने मान्यता दी है.

इस दौरान सहरुदा ने 20 मिनट में 102 ऑरिगेमी मॉडल बनाए और इतने ही समय में 350 सिरेमिक टाइल्स तोड़ीं. इससे पहले ये रिकॉर्ड नॉर्थ कोरिया की महिला खिलाड़ी के नाम था जिसने 20 मिनट में 262 टाइल्स तोड़ी थीं.

सहरुदा कहती हैं-

Source: indiatimes
'मैंने तीन वर्ल्ड रिकॉर्ड के लिए अटेम्प्ट किया था, जिनमें से दो में मुझे कामयाबी मिली. साथ ही मैंने कई नेशनल और स्टेट रिकॉर्ड भी तोड़े. मैं पिछले 1 साल से कराटे सीख रही हूं इस दौरान ग्रीन बेल्ट हासिल कर चुकी हूं. 'सिरेमिक टाइल इवेंट' के लिए मैं अपनी ट्रेनर के साथ 5 मिलीमीटर मोटी टाइल तोड़ने की प्रैक्टिस कर रही थी.

सहरुदा की ट्रेनर अश्विनी आनंद ने बताया कि-

मैंने साल 2017 के WKU वर्ल्ड चैंपियन में सेकंड डिग्री ब्लैक बेल्ट हासिल किया था. मेरा मकसद अधिक से अधिक लड़कियों और महिलाओं को ट्रेंड करना है. अब मैं सहरुदा को वर्ल्ड चैंपियनशिप और दूसरी प्रतियोगिताओं के लिए तैयारी करा रही हूं. अभी तो ये एक शुरुआत है मुझे और भी उम्मीदें हैं.
Source: aninews

आज के दौर और आने वाले समय में सेल्फ़ डिफ़ेंस हर किसी के लिए महत्वपूर्ण हो जाएगा. इसी को ध्यान में रखते हुए अश्विनी और उनकी स्टूडेंट सहरुदा ने ये मुकाम हासिल किया है.

उम्मीद करते हैं कि सहरुदा भविष्य में भी देश का नाम यूं ही रौशन करती रहें.