छोटे-छोटे बच्चे भी कभी-कभी अपनी बड़ी सोच से लोगों को हैरान कर देते हैं. कश्मीर में रहने वाले 8 साल के बच्चे मलिक उबीद ने भी कुछ ऐसा ही किया है. वो भले ही छोटा है, मगर उसकी सोच बहुत बड़ी है. उसने कोरोना से पीड़ित मरीज़ों के इलाज़ के लिए अपनी गुल्लक के सारे पैसे ज़िला अधिकारी को दान किये हैं.

उबीद बांदीपुरा ज़िले के नौपोरा इलाके का रहने वाला है. वो कुछ दिनों पहले अपनी गुल्लक हाथ में लिए डीएम ऑफ़िस पहुंचा था. इसे डीएम साहब को देते हुए बच्चे ने कहा कि इसमें जो भी पैसे हैं उन्हें कोरोना वायरस के ख़िलाफ जारी जंग में इस्तेमाल किया जाए.

coronavirus
Source: deccanherald

उबीद की एक तस्वीर जम्मू-कश्मीर सरकार के सूचना विभाग ने अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर की है. इसके कैप्शन में लिखा गया है, “8 साल का ये बच्चा डीएम ऑफ़िस आया और उसने अपने गुल्लक की रक़म डीसी को सौंपी. उसने इस रकम को Covid-19 के ख़िलाफ लड़ाई के लिए इस्तेमाल करने की इच्छा जताई है.”

संकट की इस घड़ी में लोगों की मदद के लिए आगे आए इस बच्चे के जज़्बे को देख कर लोग भावुक हो गए. लोग सोशल मीडिया पर इनकी तारीफ़ करते नहीं थक रहे हैं. आप भी देखिए:

ग़ौरतलब है कि कोरोना वायरस के चलते देश में लोगों के सामने खाने-पीने से लेकर रोज़गार तक की समस्या उत्पन्न हो गई है. इसलिए देश भर के लोग और संगठन दिल खोल कर दान कर रहे हैं ताकि ज़रूरतमंदों की बुनियादी ज़रूरतों का ख़्याल रखा जा सके. उबीद की तरह ही आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में रहने वाले 4 साल के एक बच्चे हेमंत ने अपनी साइकिल के लिए बचाए गए पैसे दान किए हैं. उसने मुख्यमंत्री राहत कोष में 971 रुपये दान किए हैं.

News के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.