कोरोना वायरस से देश में अब तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है और इससे संक्रमित लोगों की संख्या 673 तक पहुंच गई है. इस महामारी के चलते पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया गया है. महामारी का असर कई बिज़नेस पर भी पड़ रहा है. लोग कोरोना के डर के चलते अख़बार ख़रीदने से बच रहे हैं.

हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कोलकाता के लोग कोरोना के डर के चलते अख़बार ख़रीदने से कतरा रहे हैं. उन्हें लगता है कि अख़बार इतने लोगों के हाथों से गुज़रता है, कहीं इसे किसी कोरोना संक्रमित व्यक्ति ने छूआ होगा तो उन्हें भी ये बीमारी हो सकती है. इसके चलते कोलकाता में अख़बारों की सेल्स में 80 फ़ीसदी की गिरावट दर्ज़ की गई है.

People stopped purchasing newspaper over Covid-19 fear
Source: 7tint

यहां तक कि लोग अपनी सोसाइटी में अख़बार बेचने के लिए आने वाले वेंडर्स को भी रोकने लगे हैं. एक न्यूज़पेपर डिस्ट्रीब्यूटर ने कहा-'अधिकतर लोगों ने अख़बार ख़रीदना बंद कर दिया है. इनकी बिक्री में 80 फ़ीसदी तक की कमी आई है.'

People stopped purchasing newspaper over Covid-19 fear
Source: thehindu

वहीं दूसरी तरफ अंतरराष्ट्रीय न्यूज़ मीडिया संघ द्वारा कराई गई एक रिसर्च की मानें तो ऐसा बिलकुल नहीं है. अख़बार और मैगज़ीन्स से कोरोना वायरस नहीं फैलता. संघ का कहना है कि इनसे संक्रमण फैलने के कोई साक्ष्य अभी नहीं मिले हैं.

उनका दावा है कि अख़बारों और मैगज़ीन्स में इस्तेमाल होने वाला पेपर कोरोना वायरस के ख़तरे से महफूज़ है. इसलिए लोगों को डरने की ज़रूरत नहीं है. वो इन्हें बिना किसी टेंशन के ख़रीद सकते हैं.


News के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.