इस वर्ष 118 लोगों को विभिन्न क्षेत्रों में किए गए अपने योगदान के लिए पद्म श्री अवॉर्ड से सम्मानित किया जाएगा.

इन सभी लोगों के बीच मालसी, देहरादून के 82 वर्षीय प्लास्टिक सर्जन योगी ऐरन को भी पद्म श्री अवॉर्ड से सम्मानित किया जाएगा.

New Indian Express के मुताबिक़, वे पिछले 25 सालों से वंचित लोगों के जले हुए चेहरों का मुफ़्त में इलाज़ कर रहे हैं.

ऐरन 2006 से हर साल दो बार, दो हफ़्ते का शिविर लगाते हैं जिसमे वो ग़रीबी रेखा से नीचे आने वाले लोगों का चेहरा जलने के कारण उनके होंठ, गाल, नाक या चेहरे पर कहीं भी असर पड़ा होता है उसका इलाज़ करते हैं.

padma shree

ऐरन को इस काम के लिए उनके दोस्त और कई NGOs आर्थिक मदद करते हैं.

अभी 10,000 से ज़्यादा पेशेंट एरोन की वेटिंग लिस्ट में हैं. आशा है कि अवॉर्ड मिलने से हुई चर्चा में आने के बाद ऐरन को आर्थिक तोर पर और मदद मिलेगी और वो लोगों का इलाज और तेज़ी से कर पाएंगे.