बीते 11 अप्रैल को 'लोकसभा इलेक्शन 2019' की शुरुआत हो चुकी है. पहले चरण में उत्तर प्रदेश की 8 लोकसभा सीटों पर भी मतदान हुआ. इन आठ सीटों में से एक सीट मुज़फ़्फ़रनगर की भी थी.

इस दौरान युवाओं और बुज़ुर्गों के बीच मतदान को लेकर काफी जोश और जज़्बा देखने को मिला.

Source: indianexpress

मुज़फ़्फ़रनगर जिले के चरथावल क्षेत्र के ग्यांना मजारा गांव निवासी 85 वर्षीय किशनी देवी ने भी मतदान किया था. बीमारी के चलते किशनी देवी महीनों से बिस्तर पर पड़ी थीं. चलना-फिरना तो दूर वो बिस्तर से उठ भी नहीं पा रही थीं. दुःखद बात ये है कि मतदान करने के कुछ ही घंटों बाद उनका देहांत हो गया.

Source: timesofindia

स्वास्थ्य ठीक न होने के कारण उन्होंने एक हफ़्ते से कुछ खाया भी नहीं था. बावजूद इसके वो मतदान करने को लेकर उत्सुक थीं. मतदान को लेकर ज़िद के बाद ही परिजन उन्हें चारपाई पर उठाकर मतदान केंद्र ले गए थे.

ग्राम प्रधान कंवरपाल ने कहा कि 'जब उनके बेटे और बहू गांव के मतदान केंद्र पहुंचे, तो उन्होंने मुझे किशनी देवी की अंतिम इच्छा के बारे में बताया. इसके बाद हमने उनके मतदान करने के लिए इंतज़ाम किये.

Source: hindustantimes

कुंवरपाल का कहना था कि ये सूचना पाने के बाद मेरे तीन सहयोगियों ने किशनी देवी के घरवालों से संपर्क किया और माता जी को मतदान केंद्र लेकर आये. इसके बाद शाम 5:30 बजे के करीब उन्होंने वोट डाला.

किशनी देवी के बेटे राजपाल सिंह ने कहा कि वो मतदान करने के बाद बेहद ख़ुश लग रही थीं. बीमार होने के बावजूद उनका जज़्बा देखने लायक था.