देश की राजधानी दिल्ली की आबो हवा किस कदर बदल चुकी है, ये हम सभी को मालूम है. पिछले कुछ सालों से दिल्ली में सांस लेना मुश्किल हो रहा है.

delhi pollutions
Source: weather

आम तौर पर यही माना जाता है कि धूम्रपान करने वाले लोग ही अक्सर कैंसर के शिकार होते हैं. लेकिन अब दिल्ली में ध्रूमपान न करने वाले लोग भी वायु प्रदूषण के कारण इस बीमारी के चपेट में आ रहे हैं.

दिल्ली के गंगाराम अस्पताल से एक ऐसा ही मामला सामने आया है. 28 साल की नॉन स्मोकर युवती को लंग्स कैंसर हो गया है. लड़की के परिवार में कोई भी ध्रूमपान नहीं करता है. बावजूद इसके डॉक्टरों ने उसे फ़ेफ़डों के कैंसर से पीड़ित बताया है.

गंगाराम अस्पताल चेस्ट सर्जरी के चेयरमैन डॉ. अरविंद कुमार ने इसके लिए दिल्ली की ज़हरीली हवा को दोषी ठहराया है.

ganga ram hospital doctor arvind kumar
Source: twitter

डॉ. अरविंद कहते हैं कि, प्रदूषित हवा में सिगरेट में पाए जाने वाले तत्व भी मौजूद होते हैं. इससे पहले भी मेरे सामने ऐसे कई मामले आ चुके हैं. हमारे पास हर महीने 30-40 के बीच की उम्र के लोग जो धूम्रपान नहीं करते फिर भी लंग्स कैंसर के 2-3 मामले आ रहे हैं.

ये ख़बर सामने आते ही कर्नाटक से युवा बीजेपी नेता तेजस्वी सूर्य ने कहा, 'दिल्ली में हवा की गुणवत्ता बेहद डरावनी है. मैं पिछले दो महीनों में 3 बार सांस लेने में दिक्कत के चलते बीमार पड़ चुका हूं. हर स्तर के अधिकारियों को इस गंभीर समस्या के हल के लिए कठोर कदम उठाने चाहिए. आम जनता को भी इसे दूर करने में सहयोग करना होगा'.

इस ख़बर को लेकर सोशल मीडिया पर भी लोगों की प्रतिक्रियाएं सामने आने लगी हैं-