जिस गति से भारतीय 'काम' कर रहे हैं, 2027 तक हम चीन को पछाड़ देंगे. ये कोई जुमला नहीं है, सोमवार को संयुक्त राष्ट्र ने एक रिपोर्ट में कहा कि अगले 8 सालों में भारत की जनसंख्या चीन से ज़्यादा हो जाएगी.  

रिपोर्ट के अनुसार, 2019 से 2050 के बीच में भारत की जनसंख्या में 273 मिलियन लोगों का इजाफ़ा होगा और वो शताब्दी के अंत तक दुनिया का सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश बना रहेगा.  

Source: One India

साल 2019 से 2050 के बीच नाइजीरिया की जनसंख्या 200 मिलियन बढ़ जाएगी. भारत और नाइजीरिया की कुल जनसंख्या साल 2050 तक पृथ्वी की कुल आबादी का 23 प्रतिशत होगी.  

संयुक्त राष्ट्र की पिछले रिपोर्ट के अनुसार, चीन को जनसंख्या के मामले में भारत 2022 में पीछे करने वाला था, ये रिपोर्ट 2017 में निकाली गई थी.  

Source: Hindustan Times

वर्तमान में चीन की जनसंख्या 1.43 बिलियन है और भारत की जनसंख्या 1.37 बिलियन. ये पृथ्वी की कुल जनसंख्या का 18 प्रतिशत हिस्सा है.  

अगले 30 साल में पृथ्वी की जनसंख्या में दो बिलियन लोग जुड़ जाएंगे, वर्तमान में ये संख्या 7.7 बिलियन है, जो बढ़ कर 9.7 बिलियन हो जाएगी.

                    - The World Population Prospects 2019

इस रिपोर्ट के अनुसार, 2050 में केवल इन 9 देशों में दुनिया की आधी आबादी बसेगी- भारत, नाइजीरिया, पाकिस्तान, डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ़ कॉन्गो, Ethiopia, Tanzania, इंडोनेशिया, मिस्र और अमेरिका.  

जीवन प्रत्याशा दर (Life Expectancy Rate) बढ़ने और प्रजनन स्तर (Birth Rate) घटने की वजह से साल 2050 में पृथ्वी की एक बड़ी आबादी बुजुर्ग होगी. कुल जनसंख्या का 16 प्रतिशत हिस्सा 65 वर्ष के पार का होगा.  

बता दें कि ग़रीब देशों में जनसंख्या काफ़ी तेज़ी से बढ़ रही है. इसकी वजह से वहां की सरकारें असमानता, गरीबी, संसाधन की कमी, शिक्षा, स्वास्थ्य आदि मुद्दों पर एक साथ जूझ रही हैं.