मुंबई के बांद्रा इलाक़े में एक ऐसा सुपरमार्केट खुला है, जिसमें काम करने वाले सभी लोग एसिड अटैक सर्वाइवर्स हैं. एनजीओ साहस फ़ाउंडेशन की मदद से एसिड हमलों के शिकार लोगों ने क्राउड फ़ंडिंग के ज़रिए इस सुपरमार्केट को खोला है, जिसका उद्घाटन शनिवार को भाजपा नेता चित्रा वाघ ने किया है. 

Source: indiatimes

एसिड-अटैक सर्वाइवर्स को सशक्त बनाने के लिए साहस फ़ाउंडेशन की स्थापना 2016 में दौलत बी. ख़ान द्वारा की गई थी, जो ख़ुद भी एक एसिड अटैक सर्वाइवर हैं. उन्होंने कहा कि सुपरमार्केट खोलने का ये क़दम एसिड-अटैक सर्वाइवर्स को आत्म-निर्भर बनाने में मदद करेगा.

उन्होंने बताया कि, ‘COVID-19 महामारी के दौरान हम पैसे नहीं जुटा पा रहे थे, ऐसे में हमने पैसे जमा करने के लिए एक आयोजन किया. पैसे जमा किए गए लेकिन मैंन सोचा कि पीड़ितों को किसी पर निर्भर क्यों रहना पड़े. कोरोना संक्रमण के दौरान हमने देखा कि सिर्फ दवा और ग्रोसरी की दुकानें ऐसी थी, जो चल रहीं थीं, इसलिए हमने ग्रॉसरी से शुरूआत की है.’

Source: thenews21

चित्रा वाघ ने कहा कि ये उनके लिए एक ‘बहुत ही गौरवपूर्ण पल’ था. एनजीओ की प्रशंसा करते हे बीजेपी नेता ने कहा कि उनके द्वारा किया गया ये काम एक्स्ट्रा-ऑर्डिनेरी है. 

उन्होंने आगे कहा कि, ‘मुझे लगता है कि ये हमारे देश में पहली बार है कि एसिड अटैक सर्वाइवर्स एक साथ आए और सुपरमार्केट को स्थापित करने के लिए धन जुटाया. ये पूरे देश को संदेश देता है कि त्रासदियों का सामना करने के बावजूद वे अपने पैरों पर खड़े हैं.’ 

Source: indiatimes

एसिड अटैक सर्वाइवर माबिया ने कहा कि ‘वो इस कोशिश से बहुत ख़ुश हैं. हम एसिड अटैक के शिकार हैं और ये सुपरमार्केट हमारे लिए है. मैं सभी से हमें सपोर्ट करने की अपील करती हूं.’

बता दें, संक्रमण के दौरान फ़िलहाल इस सुपरमार्केट में एसिड हमलों की शिकार हुई तीन महिलाएं और एक पुरूष काम कर रहे हैं.