'अंदाज़ अपना अपना', 'शोले', 'क़यामत से क़यामत तक', 'क़ुर्बानी', 'कर्ज़' जैसी फ़िल्मों में अभिनयत करने वाले विजू खोटे का सोमवार सुबह मुंबई में निधन हो गया. वे 77 वर्ष के थे.


PTI को उनकी भांजी और अभिनेत्री भावना बलसावर ने बताया
'नींद में ही सुबह 6:55 बजे उनका निधन हुआ. वे कुछ समय से बीमार चल रहे थे. उनके ऑर्गेन्स फ़ेल हो गए थे. वो अस्पताल में नहीं मरना चाहते थे इसीलिए उन्हें कुछ दिन पहले घर लाया गया था.'

Source: News18

विजू ने 1964 में 'या मालिक' से सिल्वर स्क्रीन में डेब्यू किया था.


शोले में 'कालिया' के रोल में उनका ये डायलॉग, 'सरदार मैंने आप का नमक खाया है' इतना मशहूर हो गया कि आज भी लोग इसे बात-चीत में इस्तेमाल करते हैं. 'अंदाज़ अपना अपना' में 'रॉबर्ट' का डायलॉग 'ग़लती से मिस्टेक' तो आज तक कई फ़िल्मों और गानों में इस्तेमाल किया जा रहा है.

90 के दशक में आया पॉपुलर शो 'ज़बान संभाल के' से भी विजू काफ़ी पॉपुलर हुए.


उन्होंने लगभग 300 हिन्दी और मराठी फ़िल्मों में काम किया. विजू मराठी थियेटर में भी काम करते थे. विजू की आख़िरी फ़िल्म थी 2018 में आई 'जाने क्यों दे यारों'. गोलमाल 3, अतिथि तुम कब जाओगे और अजब प्रेम की गज़ब कहानी में भी नज़र आए थे.

Source: Koi Moi

विजू जी के निधन पर ट्विटर में भी शोक की लहर-