कोरोना वायरस के बाद अब भारत में चक्रवाती तूफ़ान 'Amphan' कहर बरपाने को तैयार है. भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने चेतावनी दी है कि ओडिशा और बंगाल में आने वाला ये तूफ़ान 'सुपर साइक्लोन' में बदल सकता है. 

Source: indianexpress

मौसम विभाग ने चेतावनी देते हुए कहा कि 'ये चक्रवात ओडिशा और बंगाल के कई इलाकों में भारी तबाही मचा सकता है. इन इलाकों में कच्चे मकानों को भारी नुकसान हो सकता है. इसके अलावा पक्के मकान भी तूफ़ान की चपेट में आ सकते हैं. 

Source: skymetweather

इस दौरान हवा की रफ़्तार 250 किलोमीटर प्रति घंटे को भी पार कर सकती है. ऐसे में इस तूफ़ान के कारण भारी संख्या में पेड़ उखड़ सकते हैं. बिजली के बड़े-बड़े खंबे भी उखड़ सकते हैं. मछुआरों को 18 से 20 मई के बीच समुद्र में न जाने की अपील की गई है. 4-5 मीटर तक की हाई टाइड का भी अनुमान है. 

Source: hindustantimes

मौसम विभाग ने चक्रवाती तूफ़ान 'Amphan' के मद्देनजर ओडिशा, पश्चिम बंगाल, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम, असम और मेघालय के लिए 21 मई तक भारी बारिश होने की चेतावनी भी दी है. 

Source: zeenews

आज शाम पीएम करेंगे बैठक 

गृहमंत्री अमित शाह ने जानकारी देते हुए कहा कि देश के अलग-अलग हिस्सों में चक्रवाती तूफ़ान की स्थिति को देखते हुए आज शाम 4:00 बजे पीएम मोदी 'नेशनल डिज़ास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी' की महत्वपूर्ण बैठक करेंगे. इस बैठक में गृह मंत्रालय के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे.

राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) के महानिदेशक एस.एन. प्रधान ने जानकारी दी कि ओडिशा के 7 ज़िलों और पश्चिम बंगाल के 6 ज़िलों में NDRF की कुल 37 टीमों को तैनात कर दिया गया है, जिनमें से 20 टीमें दिन के अंत तक सक्रिय रूप से तैनात हो जाएंगी और 17 टीमें स्टैंडबाय पर हैं. 

Source: jagran

जानकारी दे दें कि चक्रवाती तूफ़ान 'Amphan' इस वक्त बंगाल की खाड़ी के मध्य और दक्षिणी हिस्से में है. ये लगातार उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ रहा है. सोमवार सुबह 8 बजकर 30 मिनट पर ये ओडिशा के पारादीप से 780 किलोमीटर की दूरी पर था. जबकि बंगाल के दीघा तट से इसकी दूरी फ़िलहाल 930 किलोमीटर है.