भारत के 59 चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद अब अमेरिका भी TikTok समेत कई चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने पर गंभीरतापूर्वक विचार कर रहा है. अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने सोमवार कहा कि हम निश्चित तौर पर TikTok समेत कई चीनी मोबाइल ऐप्स पर बैन लगाने पर विचार कर रहे हैं.  

Source: reuters

TikTok, यूज़र्स के डाटा को हैंडल करता है, जिसके कारण अमेरिकी सांसद भी राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर चिंता ज़ाहिर कर चुके हैं. क्योंकि उन्हें डर है कि चीन इस डाटा का इस्तेमाल कभी भी कर सकता है.  

बता दें, TikTok चीन में बहुत पहले से बैन है. हालांकि, ये ऐप जिस कंपनी ByteDance की है, वो चाइनीज़ है. भारत सरकार द्वारा बैन लगाए जाने के बाद उसने बीजिंग से दूरी बना ली है.   

Source: businesstoday

गौरतलब है कि इसके पहले पोम्पियो ने भारत द्वारा चीनी ऐप्स पर लगाए गए प्रतिबंध का समर्थन किया था. वहीं, पोम्पओ की टिप्पणी एक ऐसे वक़्त में आई है जब अमेरिका और चीन के बीच पहले से ही काफ़ी तनाव चल रहा है. फिर चाहें कोरोना वायरस महामारी से निपटने की बात हो या हॉन्गकॉन्ग में चीन की कार्रवाई या फिर पिछले दो साल से चल रहे ट्रेड वार की बात की जाए. दोनों ही देश एक-दूसरे के आमने-सामने नज़र आ रहे हैं.  

Source: nytimes

इसी बीच अमेरिका के साथ ही ऑस्ट्रेलिया में भी चीनी ऐप्स पर बैन लगाने की मांग ज़ोर पकड़ रही है. वहीं, हॉन्गकॉन्ग में नया सुरक्षा कानून लागू होने के बाद TikTok ने यहां कारोबार बंद करने का ऐलान कर दिया है. कंपनी ने कहा है कि वो जल्द ही हॉन्गकॉन्ग के कारोबार से बाहर हो जाएगी.