मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के लोगों को कोरोना संक्रमण से बचने के लिए श्लोक और भजन गुनगुनाने की सलाह दी है.

कोरोना वायरस रोगियों को ठीक करने में मदद करने के लिए विकल्पों की तलाश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अब संक्रमण के उपचार के लिए योग, मंत्र और संगीत का उपयोग करने का सुझाव दिया है.

Source: bhaskar

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का कहना था कि कई बीमारियों को सही देखभाल से ठीक ही किया जा सकता है, लेकिन जब बात कोरोना संक्रमण की आती है, तो ऐसे में एक मां भी अपने बेटे को छू नहीं सकती है. इसलिए उपचार की प्रचलित प्रणाली के साथ-साथ भारतीय परंपराओं में तात्विक प्रथाओं को अपनाने में किस बात की शंका है.

Source: gulfnews

इससे पहले भी कोरोना से प्रभावित मध्य प्रदेश में लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी) बढ़ाने के लिए सरकार ने 'जीवन अमृत योजना' शुरुआत की थी. इसके तहत शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को निशुल्क काढ़ा बांटा जाएगा.

Source: hindi

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को ख़ुद 'जीवन अमृत योजना' लॉन्च की थी. इसके अंतर्गत आयुष विभाग के सहयोग से 'मध्‍य प्रदेश लघु वनोपज संघ' द्वारा काढ़े के 50-50 ग्राम के पैकेट्स तैयार किए गए हैं. ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में लगभग 1 करोड़ लोगों को ये काढ़ा निशुल्‍क वितरित किए जाने का लक्ष्य रखा गया है.

Source: naidunia

इस दौरान वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के ज़रिए शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना संकट के इस दौर में हर व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता का मज़बूत होना बेहद ज़रूरी है, जिससे ये वायरस हम पर प्रभाव न कर पाए.

हमने अपनी पार्टी के सभी नेताओं से वैकल्पिक उपचार के लिए अपने- अपने सुझाव भेजने के लिए भी कहा है. उम्मीद है कि आने वाले कुछ समय में हम इलाज के लिए एक नए मॉड्यूल के साथ सामने आएंगे, जिससे कोरोना की रोकथाम के साथ ही मृत्यु दर को भी कम किया जा सकेगा.

Source: globalgovernmentforum

पुराने समय में हमारे ऋषियों और वैद्यों ने कई तरह की दवाएं बनाई थीं जो इम्युनिटी में वृद्धि करने का काम करती हैं. हमारे आयुष विभाग द्वारा तैयार विशेष त्रिकुटा चूर्ण-काढ़ा इम्युनिटी बढ़ाने में बहुत प्रभावी है.