पृथ्वी के फेफड़े कहे जाने वाले Amazon वर्षावन में भीषण आग लगी है. पेड़-पौधे, पशु-पक्षी मर रहे हैं. रिपोर्ट्स के अनुसार, 15 अगस्त से पूरे ब्राज़ील में, मुख्य रूप से Amazon Basin में अब तक 9,500 दावानल (जंगल की आग) शुरू हो चुकी हैं.

इस साल वैज्ञानिकों ने ब्राज़ील के वर्षा वनों में 74 हज़ार दावानल रिकॉर्ड किए हैं. 2018 से ये दोगुना ज़्यादा है. ब्राज़ील के नेशनल इंस्टीट्यूट फ़ॉर स्पेस रिसर्च की रिपोर्ट के अनुसार, जंगल की आग में 83% का इज़ाफ़ा हुआ है.   

Sky News

Amazon की ख़ासियत 

News Week

दुनिया के सबसे बड़े वर्षावन, Amazon पृथ्वी पर कार्बन डायऑक्साइड के लेवल को संतुलित रखने में अहम हैं. पेड़-पौधे कार्बन डायऑक्साइड लेते हैं और ऑक्सीजन छोड़ते हैं. Amazon वर्षावन 2.1 मिलियन स्क्वेर माइल्स में फैले हुए हैं और इसीलिये इन्हें ‘लंग्स ऑफ़ द प्लैनेट’ यानी ‘पृथ्वी के फेफड़े’ कहा जाता है. पृथ्वी को 20 प्रतिशत ऑक्सीजन यहीं से मिलती है. 

Amazon का ड्राई सीज़न, जुलाई से अक्टूबर के बीच होता है. इस दौरान प्राकृतिक कारणों से जंगल में आग लगती है. कई बार किसान और Loggers (टिंबर के लिए पेड़ काटने वाले) जानबूझकर आग लगाते हैं. 

बुरी तरह फैल रही है आग और आसमान पड़ गया है काला 

Amazon में लगी आग तेज़ी से फैल रही है. आस-पास के क्षेत्रों (Para और Mato Grosso) और यहां तक कि Sao Paulo(जंगल से तकरीबन 2000 मील दूर) तक धुंआ और स्मॉग फैल गया है. बीते सोमवार को Sao Paulo के लोगों ने बताया कि शाम के 3 से 4 के बीच आसमान काला पड़ गया.  

ABC News

जंगल की आग का धुंआ अंतरिक्ष से भी दिख रहा है.

Global News

भयंकर आग के फैलने के कारण 

1. वनों की कटाई 


रिपोर्ट्स के अनुसार, जुलाई में रिकॉर्ड स्तर पर हर मिनट 3 फ़ुटबॉल फ़ील्ड के बराबर जंगल साफ़ किए गए. पिछले साल जुलाई के मुक़ाबले इस साल जुलाई में 39% अधिक पेड़ काटे गए. वैज्ञानिकों के मुताबिक, भीषण आग कि वजह ये हो सकती है.  

2. सूखा और ऊष्मता 


धरती के बढ़ते तापमान की सच्चाई शायद ही किसी से छिपी हो. Amazon के ड्राई सीज़न पर भी इसका असर पड़ा है. ग्लोबल वॉर्मिंग भी इस भयंकर आग का कारण है.  

किन क्षेत्रों पर पड़ा है असर 

रिपोर्ट्स के अनुसार, ब्राज़ील के Amazonas, Rondania, Para और Mata Grosso में इस आग का प्रभाव पड़ेगा. कुछ रिपोर्ट्स के अनुसार, Amazonas पर इस आग का प्रभाव सबसे ज़्यादा है.  

Mongabay

आम जनता की प्रतिक्रिया 

सरकार का तो पता नहीं पर आम जनता इससे काफ़ी चिंतित है. लोगों ने ट्वीटर पर #PrayForAmazon और #AmazonRainforest के साथ चिंता ज़ाहिर की.  

ऐसे कर सकते हैं मदद 

आप ये कह सकते हैं कि हमारे यहां तो ये दिक्कत नहीं है और ये आधा सच है. कुछ दिनों पहले हमने उत्तराखंड के जंगलों में लगी भीषण आग के बारे में बताया था. इन जंगलों के संरक्षण की कोई प्रक्रिया हमारे नज़र में नहीं आई थी.  

आप Amazon के जंगलों के लिए इन जगहों पर जाकर डोनेट कर सकते हैं- 

1. Rainforest Action Network– यहां Amazon के एक एकड़ जंगल को बचाने के लिए दान किया जा सकता है. 


2. Rainforest Trust– 1988 से इस संस्था ने 23 मिलियन एकड़ जंगल बचाए हैं. 

3. Amazon Watch– ये संस्था वर्षावन संरक्षण और जलवायु संरक्षण के लिए काम करती है. 

4. Amazon Conservation Team– इस संस्था में दान करके आप पेड़ों को बचा सकते हैं, बच्चों की पढ़ाई स्पॉनसर कर सकते हैं, सोलर पैनल ख़रीदने में मदद कर सकते हैं आदि. ये संस्था आपको इस बात की भी जानकारी देती है कि आपका पैसा कहां जाता है.  

Express

हम बस Amazon को बचाने के लिए दुआ ही कर सकते हैं. बाद बाक़ी इंसानों से कुछ भी बचाना तो अब नामुमकिन सा ही हो गया है.