अमिताभ बच्चन ने बॉलीवुड में अब तक 50 साल से भी ज़्यादा का सफ़र तय किया है. इस दौरान उन्हें कई पुरस्कार मिले, लेकिन अब तक उन्हें हिन्दी सिनेमा का सबसे प्रतिष्ठित अवॉर्ड नहीं मिल सका था, लेकिन अब वो कमी भी भरेगी. अमिताभ बच्चन को दादा साहब फ़ाल्के पुरस्कार मिलेगा.

Source: manorama

सूचना एवं प्रशासन मंत्री ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी और उन्होंने लिखा, 'लीजेंड अमिताभ बच्चन, जिन्होंने दो पीढ़ियों का मनोरंजन किया और उन्हें प्रेरित किया, को एकमत से दादा साहब फ़ाल्के पुरस्कार के लिए चुना गया है. पूरा देश और अंतरराष्ट्रीय समुदाय ख़ुश है. उन्हें मेरी हार्दिक बधाई. '

अमिताभ बच्चन की पहली फ़िल्में 'सात हिन्दुस्तानी' 1969 में रिलीज़ हुई थी. उनकी पहली हिट पहली 'जंजीर' थी. अभिनेता के रूप में उनके कद कि पहचान 'आनंद' फ़िल्म से हुई थी.

अवॉर्ड मिलने के बाद सदी के महानायक ने ट्वीट कर सबका शुक्रियादा किया और लिखा, 'मेरे पास शब्द नहीं हैं। कृतज्ञ हूं मैं, परिपूर्ण, आभार और धन्यवाद ... मैं केवल एक विनयपूर्ण , विनम्र अमिताभ बच्चन हूं. '

बता दें कि इससे पहले बॉलीवुड और कला की दुनिया से जुड़े 65 हस्तियों को यह पुरस्कार मिल चुका है. आख़िरी बार यह पुरस्कार साल 2017 में अभिनेता विनोद खन्ना को दिया गया था.