पिछले कुछ समय से अफ़्रीकी देश सूडान में कुपोषण के चलते शेरों की हालत बेहद ख़राब है. कुपोषण से बेहाल ऐसे ही 5 शेरों को ख़ार्तूम के 'अल-कुरैशी पार्क' में पिंजरों में रखा गया है.

Source: dailymail

दरअसल, सूडान के ये शेर पिछले कई हफ़्तों से भोजन और दवा की कमी से जूझ रहे हैं. अब इन 5 कुपोषित और बीमार अफ़्रीकी शेरों को बचाने के लिए राजधानी के एक पार्क में ऑनलाइन मुहिम शुरू की गई.

Source: phys

बीते रविवार को सूडान के मानवाधिकार वकील उस्मान सलीह ने जब पहली बार सोशल मीडिया पर इन शेरों की तस्वीरों को शेयर किया तो लोग इन्हें देख दंग रह गए. इसके बाद शेरों को देखने के लिए आम नागरिकों, स्वयंसेवकों और पत्रकारों की भीड़ पार्क में उमड़ पड़ी.

उस्मान सलीह ने अपने फ़ेसुबक पेज पर इन शेरों की दुर्दशा के बारे में लिखा कि- 'जब मैंने 'अल-कुरैशी पार्क' में इन शेरों को देखा तो मैं हैरान रह गया. मैं लोगों और संस्थानों से इन शेरों की मदद करने का आग्रह करता हूं.

Source: dailymail

उस्मान सलीह ने इन शेरों को बचाने के लिए 'सूडान एनिमल रेस्क्यू' नाम की एक ऑनलाइन मुहिम शुरू की है. उन्होंने पांचों शेरों को किसी अच्छी जगह ले जाने की मांग भी की है.

Source: nydailynews

AFP के एक संवाददाता ने बताया कि 5 शेरों में से एक को रस्सी से बांधा गया था. जबकि दूसरे को ड्रिप के ज़रिए तरल पदार्थ दिया जा रहा था.

Source: nydailynews

दरअसल, 'अल-कुरैशी पार्क' का प्रबंधन खार्तूम नगरपालिका द्वारा किया जाता है. सूडान पहले से ही भुखमरी से जूझ रहा है ऐसे में जानवरों तो इंसानों को भी भरपेट खाना नहीं मिल पाता है. भोजन की बढ़ती कीमतों और विदेशी मुद्रा की कमी के कारण सूडान आर्थिक संकट से गुजर रहा है. ऐसे में 'अल-कुरैशी पार्क' के अधिकारियों को निजी दानदाताओं पर ही निर्भर रहना पड़ता है.

Source: dailymail

अफ़्रीकी शेरों की इस दुर्दशा पर 'अल-कुरैशी पार्क' के अधिकारियों का कहना है कि, पिछले कुछ हफ़्तों में शेरों की स्थिति काफ़ी ख़राब हो गई है. कुछ के शरीर के वजन में लगभग दो-तिहाई की कमी हुई है. हम इन शेरों के लिए हर दिन खाना उपलब्ध नहीं करा पाते हैं.सरकार से उतनी मदद नहीं मिल पाती है, इसलिए अक्सर हम उन्हें अपने पैसों से खाना खिलाते हैं.

Source: nydailynews

हालांकि, अब तक ये स्पष्ट नहीं हो पाया है कि सूडान में कुल कितने शेर हैं, लेकिन कहा जाता है कि कई शेर इथियोपिया सीमा पर स्थित 'डिंडर पार्क' में भी मौजूद हैं.