‘एक ग़रीब और मिडिल क्लास शख़्स के लिए सबसे बड़ा अभिशाप खेल प्रेमी होना है.’ 

                    - आबिद ख़ान

इस एक लाइन में ग़रीबी से जूझ रहे पूर्व नेशनल बॉक्सर आबिद ख़ान की पूरी ज़िंदगी का दर्द छिपा है. आबिद, जो NIS क्वालिफ़ाइड कोच भी हैं, लेकिन इसके बाद भी उन्हें एक अच्छी नौकरी नहीं मिल सकी. आज हालात ये हैं कि वो अपने परिवार का पेट पालने के लिए एक किराए की ऑटो चलाने पर मजबूर हैं. 

Source: youtube

ये भी पढ़ें: आनंद महिंद्रा ने भारतीय टीम के इन 6 युवा क्रिकेटरों को 'थार' गिफ़्ट कर पूरा किया अपना वादा

हाल ही में उनका एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, जिसके बाद लोगों तक उनकी ये कहानी पहुंच सकी. लोगों को ये जानकर ज़्यादा हैरान हुई कि आबिद न सिर्फ़ एक ट्रेंड प्रोफ़ेशनल हैं, बल्कि उन्होंने 5 साल तक सेना की बॉक्सिंग टीम को कोचिंग भी दी है. उसके बाद भी वो आज एक ऑटो चला रहे हैं और मंडी में लोडिंग-अनलोडिंग का काम करने को मजबूर हैं.

Source: youtube

हालांकि, अब आबिद के लिए एक अच्छी ख़बर भी है. दरअसल, हमेशा लोगों की मदद के लिए आगे रहने वाले महिंद्रा एंड महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा की नज़र भी आबिद की इस कहानी पर पड़ी है. जिसके बाद उन्होंने इस पूर्व नेशनल बॉक्सर की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है.

Source: timesnownews

आनंद महिंद्रा ने ट्वीट किया, ‘आबिद की स्टोरी बताने के लिए धन्यवाद. मैं उनकी सराहना करता हूं कि वो कोई मदद नहीं मांग रहे हैं. फिर भी मैं लोगों को चैरिटी ऑफ़र करने के बजाय उनकी प्रतिभा और जुनून में निवेश करना पसंद करता हूं. प्लीज़ मुझे बताएं कि मैं कैसे उनकी ‘स्टार्टअप’ बॉक्सिंग एकेडमी में निवेश कर सकता हूं और उसे सपोर्ट कर सकता हूं.’

बता दें, ये कोई पहली बार नहीं है, जब आनंद महिंद्रा ने सोशल मीडिया के ज़रिए किसी की मदद करने के लिए हाथ बढ़ाया हो. इसके पहले भी वो कई बार ऐसा कर चुके हैं. हाल ही में उन्होंने 1 रुपये में लोगों को इडली-सांभर खिलाने वाली तमिलनाडु की कमलाथल ‘इडली अम्मा’ को भी घर की सौगात दी है.