सेंट्रल रेलवे के मुंबई डिवीज़न में बतौर पॉइंटमैन काम करने वाले मयूर शेलके (Mayur Shelke) अपनी बहादुरी के लिए देशभर में हीरो बन चुके हैं. इन दिनों मयूर का ट्रेन की चपेट में आने से पहले एक बच्चे को बचाने वाला वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर ख़ूब वायरल हो रहा है.  

ये भी पढ़ें- दिव्यांग बुज़ुर्ग ने कबाड़ से बना दिया ई-रिक्शा, इम्प्रेस हो कर आनंद महिंद्रा ने की मदद की पेशकश

Source: abplive

क्या है पूरा मामला?

दरअसल, 17 अप्रैल को मुंबई के निकट वंगणी रेलवे स्टेशन पर एक अंधी मां अपने बच्चे के साथ जा रही थी. तभी अचानक बच्चा ट्रैक पर गिर गया. मां बच्चे को बचाने के लिए चिल्लाने लगी. इस दौरान ड्यूटी पर तैनात पॉइंटमैन मयूर शेलके की नज़र इस पर पड़ी. 

Source: mid-day

इस दौरान मयूर शेलके ने देखा कि सामने से ट्रेन आ रही है और बच्चा पटरी के बीचों बीच गिरा पड़ा है. इसके बाद मयूर ने अपनी जान की परवाह किये बगैर चीते की फुर्ती से बच्चे को बचा लिया. इस दौरान मयूर और बचा ट्रेन की चपेट में आने से बाल बाल बचे.

कोरोना महामारी के बीच मयूर शेलके अपने इस कारनामे के चलते लोगों के लिए मिसाल बन चुके हैं. सोशल मीडिया पर आम लोगों से लेकर देश के बड़े-बड़े बिज़नेसमैन मयूर की बहादुरी के क़ायल हो चुके हैं.

ये भी पढ़ें- 94 वर्षीय इस दादी ने शुरू किया बिज़नेस, आनंद महिंद्रा ने बोला 'Entrepreneur Of The Year'

इस बीच 'महिंद्रा ग्रुप' के चेयरमैन आनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) और जावा मोटरसाइकिल्स (Jawa Motorcycles) के डायरेक्टर अनुपम थरेजा (Anupam Thareja) ने भी मयूर शेलके की ख़ूब सराहना की है.  

Source: indiatoday

आनंद महिंद्रा ने अनुपम थरेजा के वीडियो वाले ट्वीट को रीट्वीट करते हुए कहा, मयूर शेलके के पास पोशाक या टोपी नहीं थी, लेकिन उन्होंने सुपरहीरो की तरह साहस दिखाकर एक बच्चे की जान बचायी. हम सभी उन्हें सलाम करते हैं. इस मुश्किल समय में मयूर ने सिखाया कि हमें अपने आस-पास ऐसे लोगों को देखना होगा, जो हमें एक बेहतर दुनिया की राह दिखाते हैं.

तोहफ़े में मिलेगी 'जावा मोटरसाइकिल' 

इस दौरान 'क्लासिक लीजेंड्स' के हेड अनुपम थरेजा ने मयूर शेलके को उनकी बहादुरी के लिए Jawa Heroes Initiative के तहत एक नई 'जावा मोटरसाइकिल' गिफ़्ट करने का ऐलान किया है.  

Source: shethepeople

इससे पहले रेल मंत्री पीयूष गोयल भी ने मयूर शेलके की तारीफ़ कर चुके हैं. रेल मंत्रालय ने मयूर को 50 हज़ार रुपये के इनाम से सम्मानित करने की घोषणा की है. इस दौरान उन्होंने कहा कि, 'मयूर ने जो बहादुरी दिखाई है उसके लिए कोई इनाम कम है.

इसके अलावा 'एशियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ ट्रांसपोर्ट डेवलपमेंट' ने भी मयूर शेलके को 50,000 रुपये का इनाम दिया है.