इन दिनों सोशल मीडिया पर एक वीडियो ख़ूब वायरल हो रहा है, जिसमें एक भालू किसी डिब्बे को ज़ोर ज़ोर से ज़मीन पर पटकता हुआ दिखाई दे रहा है. भूख से बिलखता ये भालू डिब्बे को इसलिए पटक रहा है ताकि कुछ खाने को मिल जाए.

Source: indiatoday

ये मामला छत्तीसगढ़ के किसी ग्रामीण इलाके में स्थित मंदिर का बताया जा रहा है. भोजन की तलाश में जुटे दो भालू इस क़दर परेशान हो गए कि वो मंदिर परिसर में रखे डस्टबिन को ही पटकने लगे.

दरअसल, ये भालू मंदिर में दर्शन के लिए आने वाले भक्तों द्वारा दिए भोजन पर ही निर्भर रहते थे. लेकिन देशभर में लॉकडाउन के चलते मंदिर बंद होने से ये मंदिर बंद हैं. इसलिए भालू के इस जोड़े के सामने खाने-पीने की समस्या पैदा हो गई है.

Source: indiatoday

भारतीय वन सेवा के अधिकारी परवीन कासवान ने अपने ट्विटर अकाउंट पर इसका एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा-

'मंदिर बंद हैं. ये भालू डस्टबिन में खाना ढूंढने आया, लेकिन जब उसे कुछ नहीं मिला तो गुस्से में आकर डस्टबिन को चारों ओर पटकने लगा. इसलिए सुझाव दिया जाता है कि जंगली जंगली जानवरों को भोजन नहीं दिया जाना चाहिए'.

वाइल्ड लाइफ़ रेस्क्यू एक्सपर्ट अर्पित मिश्रा ने भी वीडियो शेयर करते हुए लिखा-

'मंदिर बंद हैं. भक्तों द्वारा दिए गए प्रसाद और खाद्य सामग्री पर निर्भर ये भालू अब नाराज़ हैं और मंदिरों के आसपास डस्टबिन में भोजन की तलाश कर रहे हैं'.

क्या करें साहब पेट की ये भूख है ही ऐसी चीज़! इन दिनों भूख से न सिर्फ़ जानवर, बल्कि इंसान भी उतने ही परेशान हैं. आख़िर इस परेशानी को लेकर जाएं भी तो किसके पास? न शासन है न ही प्रशासन! ऐसे में भूख से ग़ुस्सा नहीं आएगा तो क्या आएगा?