महाराष्ट्र के लोग पूरे साल बड़ी ही बेसब्री से मॉनसून का इंतज़ार करते हैं. मॉनसून आते ही, उससे उतनी ही जल्दी परेशान भी हो जाते हैं. और जब लगातार हो रही बारिश बाढ़ में बदल जाए तब तो पूरा जीवन ही अस्त-व्यस्त हो जाता है. और इन दिनों महाराष्ट्र के हालात बुरे ही हैं.

maharshtra flood
Source: firstpost

ख़ैर, हम इंसान तो अपनी मदद ख़ुद करने में सक्षम होते हैं. पर क्या अपने कभी सोचा है कि ऐसी बेहाल स्थिति में जानवरों का क्या होता होगा?

आप घबराइय मत. अभी भी दुनिया में इंसानियत और मानवता बाकी है. ऐसे बहुत से नेक लोग हैं जो अपने से पहले दूसरों की सोचते हैं. ख़ास तौर पर बेजुबां जानवरों की.

'Animal Rahat' नामक एक संस्था महाराष्ट्र में इन बेज़ुबान जानवरों को बचाने का ये सराहनीय कार्य कर रही है.

अब तक, उन्होंने कम से कम 10 कुत्तों की जान बचाई है.