कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक ऑल-पार्टी मीटिंग की और उसमें कहा, 'न ही कोई हमारी सीमा में घुसा, न ही कोई पोस्ट किसी के कब्ज़े में हैं.'

Source: The Wire

लद्दाख के गलवान घाटी में चीनी और भारतीय सैनिकों के बीच हुए फ़ेस ऑफ़ के लगभग 2 दिन बाद मोदी ने ऑल पार्टी मीटिंग की. इस फ़ेस ऑफ़ में एक कर्नल रैंक के अफ़सर समेत 20 जवान शहीद हो गये और एक रिपोर्ट के अनुसार 76 घायल हुए. 10 सेना के जवानों को चीनी सैनिकों ने बंदी बना लिया और उन्हें बीते गुरुवार को छोड़ा गया.


मोदी के शुक्रवार के बयान पर कई लोग चौंक गये. मोदी ने ये भी कहा कि भारत शांति और मित्रता में यक़ीन रखता है पर अपनी Sovereignty को क़ायम रखना भी जानता है.  

Source: Outlook India

मोदी की इन टिप्पणियों पर कई सेवानिवृत्त अधिकारियों ने आपत्ति जताई. ट्विटर पर कई अधिकारियों ने अपनी राय रखी. 

1. आरएम ने ये कहा था...अब पीएम ने आरएम की बात का ये कहकर खंडन किया है कि वो हमारी सीमा के अंदर नहीं घुसे! क्या हमने उनके दावे स्वीकार कर लिये हैं? हमने तो आधिकारिक रूप से ये माना था कि वो गलवान में घुसे थे. 

2. क्या मैंने अभी-अभी टीवी पर नरेंद्र मोदी Sino-India बॉर्डर दोबारा बनाते देखा? मोदी ने कहा कि कोई भारत की भूमि पर नहीं घुसा. क्या वो चीन के गलवान नदी घाटी और Pangong Tso के फ़िन्गर्स 4-8- (जो हमारे क्षेत्र में आते हैं) को अपना क्षेत्र बताने के दावे को मान गये हैं. 

3. आज का दिन बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है!! मैं अपने 3 स्टार्स का शुक्रिया करता हूं कि मैं रिटार्ड हूं और मेरा बेटा सेना में नहीं है. 

जनरल रॉय ने अगले ट्वीट में लिखा 'मैं 4 दशकों तक भारतीय सेना के द्वारा देश की सेवा की. किसलिए? सिर्फ़ 1 मक़सद. अपने देश की Territorial Integrity, बॉर्डर और संप्रभुता को क़ायम रखने का. मैं ये देखकर टूट गया हूं कि पूर्वी लद्दाख में चीन LAC को बदल रहा है और भारत ने ये मान लिया है. मेरे जैसे हर सिपाही के लिए ये बहुत दुखद दिन है.'

4. तो कोई अतिक्रमण नहीं हुआ और कोई भारतीय पोस्ट नहीं खोए!

हमारे जवान चीनी धरती पर उन्हें 'निकालने' नहीं गये?
वही जो PLA कहता आया है!
16 बिहार के वीरों की क़ुर्बानी को भुलाने में भारत को सिर्फ़ 48 घंटे लगे. शर्मनाक!

5. क्या हमें ये पूछने की इजाज़त है, 'मारते मारते कहां मारे?' 

6.  चीन को भारत का क्षेत्र हथियाने का लाइसेंस मिल गया. वो अतिक्रमण नहीं कर रहे. उन्होंने कोई ज़मीन नहीं छीनी. 20 जवानों ने आत्महत्या की है. सब ठीक है. द ग्रेट चाइना लैंड माफ़िया सपोर्टेड बाइ इंडिया.

7. @PMOIndia को सुना

कोई मेरे या अन्य सैनिकों के मनोबल को कम नहीं कर सकता पर मुझे लगा वो इसे और बढ़ायेंगे.
मैं ग़लत था.