सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को रिपब्लिक TV के एडिटर, अर्नब गोस्वामी को उन पर लगे आत्महत्या के लिए उकसाने के केस में अंतरिम जमानत दे दी थी. अर्नब पर आरोप है कि 2018 में उन्होंने इंटीरियर डिज़ाइनर, अन्वय नाइक और उसकी मां कुमुद नाइक को ख़ुदकुशी करने के लिए भड़काया था.  

इस मामले पर कॉमेडियन कुणाल कामरा लगातार ट्विटर पर ट्वीट कर सिस्टम की टांग खींचते दिखाई दिए थे. अब उनके ये ट्वीट उनके गले की फांस बनते नज़र आ रहे हैं. दरअसल, वकील रिज़वान सिद्दीकी ने देश के अटॉर्नी जनरल को पत्र लिखकर कुणाल कामरा के ख़िलाफ न्यायालय की अवमानना की आपराधिक कार्यवाही शुरू करने की मांग की है. 

kunal kamra
Source: wikipedia

अब ख़बर आई है कि अटॉर्नी जनरल के.के. वेणुगोपाल ने इस केस में आगे बढ़ने की अनुमति दे दी है. अर्नब गोस्वामी की अंतरिम जमानत के बाद कुणाल कामरा ने ट्वीट करते हुए लिखा था-'डीवाई चंद्रचूड़ एक फ़्लाइट अटेंडेंट हैं जो प्रथम श्रेणी के यात्रियों को शैम्पेन ऑफ़र कर रहे हैं क्योंकि वो फ़ास्ट ट्रैक्ड हैं. जबकि सामान्य लोगों को ये भी नहीं पता कि वो कभी चढ़ या बैठ भी पाएंगे, सर्व होने की तो बात ही नहीं है.' 

कुणाल कामरा के इस ट्वीट को सुप्रीम कोर्ट की अवमानना माना जा रहा है. इस ख़बर के आने के बाद भी कुणाल नहीं रुके उन्होंने ट्वीट कर इस पर भी कटाक्ष किया. उन्होंने लिखा- 'ये न्यायालय की अवमानना नहीं, बल्कि भविष्य में राज्यसभा सीट की अवमानना है.'