सारी दुनिया को इस वक़्त सिर्फ़ एक ही चीज़ की तलाश है और वो है कोरोना की दवाई की, दुनिया भर के साइंटिस्ट सारी कोशिश कर रहे हैं, मगर कोरोना का कोई तोड़ मिलना संभव नहीं हो पा रहा है.

Source: sciencemag

इसी बीच पतंजलि के फाउंडर और योग गुरु बाबा रामदेव ने दावा किया है कि उन्होंने कोरोना का इलाज खोज लिया है, बाबा रामदेव ने बोला कि उनकी दवा कारगर है और इस दवा का रिकवरी रेट 100% है.

बाबा रामदेव ने बताया कि कोरोना का इलाज गिलोय और अश्वगंधा से पूरी तरह संभव है, साथ ही उन्होंने कहा कि वो ये बात पूरी प्रमाणिकता के साथ यह कह रहे हैं.

Source: firstcry

बाबा रामदेव के अनुसार, जब कोरोनावायरस शरीर में प्रवेश करता है, तो यह सेल्स और पूरे सिस्टम को डिस्टर्ब करता है और मल्टीपल हो जाता है, साथ ही सेल्स को संक्रमित करता रहता है. संक्रमण की इस चेन को तोड़ने का अश्वगंधा और गिलोय बखूबी काम करते हैं.

बाबा रामदेव ने दावा किया कि जब अश्वगंधा और गिलोय का उपयोग रोगियों पर किया गया तो रिजल्ट में उन्हें 100% रिकवरी रेट और 0% डेथ रेट मिली, यानी सारे रोगी सही हो गए.

Source: joinswadeshi

हालांकि इस पर अभी कोई भी साइंटिफिक डॉक्यूमेंट जारी नहीं किया गया है, उस पर बाबा रामदेव का कहना है कि क्लिनिकल कंट्रोल ट्रायल पूरा होते ही वो सारे आकंड़ें और इसके साइंटिफिक डॉक्यूमेंट प्रस्तुत करेंगे. बाबा रामदेव ने कहा कि आयर्वेद से कोरोना की ना सिर्फ रोकथाम की जा सकती है बल्कि उसे ठीक भी किया जा सकता है.

Source: indiatoday

कुछ दिनों पहले IIT-दिल्ली के शोधकर्ता, जो जापान के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस इंडस्ट्रियल साइंस एंड टेक्नोलॉजी (AIST), के साथ मिलकर कोरोना की दवाई खोज रहे हैं उन्होंने भी दावा किया था कि अश्वगंधा कोरोना के इलाज में असरदार साबित हो सकती है.