आये दिन ख़बरों में ग्लोबल वॉर्मिंग के बारे में पढ़ने और सुनने को मिलता है. इस वजह से दुनियाभर में कई दिक्कतें भी उत्पन्न हो रही हैं. अब केले को ही लीजिये. एक रिपोर्ट में कहा गया है कि केला दुनिया से जल्द ही गायब हो सकता है और इसकी वजह ग्लोबल वार्मिंग को बताया जा रहा है.

Source: cdn

शोध के मुताबिक, जलवायु परिवर्तन की वजह से ब्लैक सिगाटोका नामक एक कवक (Fungal) रोग बढ़ता जा रहा है, जिससे लगातार केले की फ़सल प्रभावित हो रही है. ये अध्यन University of Exeter द्वारा किया गया, जिसे Journal Philosophical Transactions Of The Royal Society B में प्रकाशित भी किया गया है. इस रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि नमी और तापमान की स्थिति में बदलाव की वजह से Latin America और Caribbean जैसी जगहों पर 1960 के बाद से Black Sigatoka (ब्लैक सिगाटोका) में 44 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी देखी गई है.

Source: au

ब्लैक सिगाटोका Fungus की वजह से होता है, जिसका जीवन चक्र मौसम और जलवायु के कारण निर्धारित होता है और ये केले के पौधे के लिये काफ़ी घातक होता है.

Source: imgur

इस रिपोर्ट में ये भी कहा गया कि Latin में Pseudocercospora Fijiensis नामक Fungus Aerial Spores के माध्यम से फैलता जा रहा है, जो केले के पौधे को भी संक्रमति कर रहा है.

Source: webbcanyonchronicle

इस ग्लोबल वॉर्मिंग के ज़िम्मेदार हम हैं और अगर अभी दिमाग़ से काम नहीं लिया, तो एक दिन दुनिया का विनाश निश्चित है.