सिविल सर्विसेज़ में भर्ती होने का सपना बहुत लोग देखते हैं मगर इसका एग्ज़ाम पास करना बेहद ही मुश्किल होता है. इसी वजह से बहुत लोगों के लिए ये एक सपना ही बन कर रह जाता है. लेकिन अक्सर लोग बेहद विपरीत और कठिन परिस्थितियों के बावजूद अपनी लगन और मेहनत से अपना सपना पूरा करते हैं. हम लाए हैं आपके लिए ऐसा ही एक उदाहरण.

Bangalore Mirror की एक ख़बर के अनुसार, BMTC में बस कंडक्टर की नौकरी करने वाले मधु NC ने UPSC सर्विसेज़ की मुख्य परीक्षा पास कर ली है. वो रोज़ाना 5 घंटे पढ़ा करते थे. अब आने वाली 25 मार्च को उनका इंटरव्यू भी है.

29 वर्षीय मधु ने पिछले साल जून में प्रीलिम्स क्लियर किया था. वहीं इस महीने निकली UPSC सर्विसेज़ की मुख्य परीक्षा के नतीज़े में अपना रोल नंबर देख वे बेहद ही ख़ुश हो गए थे.

UPSC

मधु अपने परिवार में एक मात्र ऐसे व्यक्ति हैं, जो स्कूल गए हुए हैं. ऐसे में मधु को मिली इस क़ामयाबी से उनका परिवार बेहद ही ख़ुश है. बावजूद इसके कि मधु दिन में 8 घंटा कंडक्टर की ड्यूटी रहते हैं.

अपनी दिनचर्या पर बात करते हुए मधु बताते हैं कि,

मैं जीवन में हमेशा कुछ बड़ा हासिल करना चाहता था. अपने परिवार को सहारा देने के लिए मैंने बहुत छोटे से ही काम करना शुरू कर दिया था. मगर इससे मेरी पढ़ाई पर कोई असर नहीं पड़ा. मैं दिन में 5 घंटा पढ़ता था. एथिक्स, पॉलिटिकल साइंस, मैथ्स और साइंस मेरे विषय थे. मैं हर रोज़ काम पर जाने से पहले और काम से वापिस आने पर पढ़ता था. मैं रोज़ सुबह 4 बजे उठता था और काम पर निकलने से पहले अपनी पढ़ाई पूरी करके जाता था.

अगर मधु अपने इंटरव्यू में पास हो जाते हैं तो उनका सपना है कि वो IAS ऑफ़िसर के रूप में काम करें.

हमारी तरफ़ से मधु को Best Of Luck!