रोटसेलार, बेल्जियम के रहने वाले 103 वर्षीय रिटायर्ड डॉक्टर, कोरोना वायरस की रिसर्च के लिए पैसे जुटाने में लगे हुए हैं. वो दैनिक चरणों में अपने बगीचे के आस-पास मैराथन करते हैं.  

doctor
Source: reuters

Alfons Leempoels, एक सेवानिवृत्त सामान्य चिकित्सक हैं. उन्होंने रोटसेलार में अपनी 42.2 किमी की यात्रा को 1 जून से चालू किया था और इसे 30 जून को ख़त्म करने की योजना बनाई है. 

वो हर रोज़ 10 Laps में 145 मीटर चलते हैं. तीन सुबह, तीन दोपहर और चार शाम को. गिनती न भूल जाएं इसके लिए वो हर एक Lap करने के बाद एक कटोरे में छड़ी डाल देते हैं.  

belgian doctor
Source: reuters

Alfons ने कहा कि उन्हें यह विचार तब आया जब उन्होंने 'विश्व युद्ध दो' के दिग्गज टॉम मूर (100 वर्षीय) को अपने बगीचे में घूमकर अपने देश, ब्रिटेन की स्वास्थ्य सेवा के लिए $40 मिलियन से भी अधिक की राशी जुटाते देखा. 

"मेरे बच्चों ने कहा कि मैं टॉम मूर जितना तो चल ही सकता हूं और ऊपर से मैं 103 साल का हूं."  

वो आगे कहते हैं, 

“तो उन्होंने सुझाव दिया कि शायद मुझे कुछ करना चाहिए. मेरी पोती ने हाल ही में मैराथन में दौड़ लगाई थी और मज़ाक के तौर पर मैंने कहा: मैं एक मैराथन दौड़ूंगा." 

belgian doctor

Alfons ल्यूवेन विश्वविद्यालय से जुड़े अस्पताल के लिए धन जुटाने की उम्मीद करते हैं, जहां शोधकर्ता COVID-19 का इलाज खोजने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं. 

ल्यूवेन विश्वविद्यालय के मार्लिस वेंडरब्रुगन ( Marlies Vanderbruggen) के अनुसार उन्होंने अभी तक मात्र 6,000 यूरो ही जुटाए हैं. इसके साथ ही Alfons ने मैराथन की दूरी का लगभग एक तिहाई कवर किया है. 

alfons
Source: reuters

Alfons बताते हैं कि उन्हें याद है 1957-58 में एशियाई फ़्लू महामारी के दौरान लोग किस तरह बीमार हुए थे, मगर कोरोना वायरस के मुक़ाबले उस महामारी से लोग जल्दी ठीक हो रहे थे.


"एक डॉक्टर होने के नाते आप ये सब महसूस कर सकते हैं और इसलिए मुझे ख़ुशी है की शायद मैं भी कोरोना वायरस से लड़ने में कुछ योगदान कर सकता हूं." 

उम्मीद है Alfons की ये मैराथन उनकी योजना के हिसाब से समय पर ख़त्म हो.