स्मार्टफ़ोन के ज़रिए अब ट्रांज़ैक्शन बेहद आसान हो गये. चाहे बिल भरना हो, शॉपिंग करनी हो या खाना ऑर्डर करना हो, बस एक क्लिक से ही काम हो जाता है. एक तरफ़ टेक्नॉलॉजीने ज़िन्दगी आसान कर दी है तो दूसरी तरफ़ अपराध भी बढ़ गये हैं. ऑनलाइन फ़्रॉड, स्कैम दिन-प्रतिदिन बढ़ने लगे हैं. 

बेंगलुरू से अब एक ऑनलाइन स्कैम का मामला सामने आया है. Deccan Herald की रिपोर्ट के अनुसार, 58 वर्षीय सविता शर्मा के साथ जो हुआ वो हिंदी के मुहावरे 'खाया पिया कुछ नहीं, ग्लास तोड़ा 12 आना' को सच कर दिया है.  

सविता को पिछले हफ़्ते फ़ेसबुक पर एक बेहद दिलचस्प ऑफ़र नज़र आया. ये ऑफ़र सदाशिवनगर के एक रेस्टोरेंट का था. ये रेस्टोरेंट 250 रुपये में 2 मुफ़्त थाली दे रहा था. 

सविता ने विज्ञापन में दिया नंबर डायल किया और ऑर्डर करने की इच्छा ज़ाहिर की. फ़ोन के उस तरफ़ बैठे शख़्स ने सविता को 10 रुपये एडवांस देने को कहा और कहा कि सविता को बाक़ी की रक़म खाना डिलीवर होने की बाद देनी होगी.  

Source: Unsplash

सविता को पेमेंट करने का लिंक मिला, सविता ने अपना डेबिट कार्ड डिटेल और पिन दे दिया. कुछ ही देर में सविता के पास एक एसएमएस आया जिसमें लिखा था कि उसके अकाउंट से 49,996 रुपये डेबिट हो गये हैं. सविता ने वापस विज्ञापन में दिया नंबर डायल किया पर वो स्विच्ड ऑफ़ था.

Source: Multi Channel Merchant

मुफ़्त का खाना तो मिला नहीं उल्टे सविता को काफ़ी सारे पैसे गंवाने पड़े. बैंक, पेमेंट एप्स बार-बार ये हिदायत देते हैं कि अपना पिन और वन टाइम पासवर्ड, अकाउंट की जानकारी किसी को न दें.