बीजेपी नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद को SIT ने शाहजहांपुर से गिरफ़्तार किया है. शाहजहांपुर ज़िला अस्पताल में मेडिकल करवाने के बाद अदालत ने चिन्मयानंद को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया. 

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर गठित SIT यौन शोषण के मामले की जांच कर रही है.

लॉ छात्रा से रेप और यौन शोषण मामले में आरोपी चिन्मयानंद ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है. शुक्रवार को एसआईटी की पूछताछ में चिन्मयानंद ने माना कि उससे ग़लती हो गई. उसी ने मालिश के लिए युवती को अपने कमरे में बुलाया था. मैं शर्मिंदा हूं मुझसे बड़ी भूल हुई है.  

Source: inkhabar

शाहजहांपुर के एस.एस. लॉ कॉलेज की छात्रा ने स्वामी चिन्मयानंद पर यौन शोषण के आरोप लगाए थे. विशेष जांच दल (एसआईटी) ने बलात्कार के मामले में चिन्मयानंद को उनके आवास ‘दिव्य धाम’ से शुक्रवार की सुबह गिरफ़्तार किया. 

Source: ndtv

हाल ही में इस मामले से जुड़े कुछ वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए थे. इन आरोपों के सिलसिले में पिछले शुक्रवार को SIT की टीम ने करीब 7 घंटे तक स्वामी चिन्मयानंद से पूछताछ की थी. स्वामी चिन्मयानंद से पुलिस लाइन में स्थित SIT के दफ़्तर में पूछताछ की गई थी. 

Source: bbc

चिन्मयानंद की गिरफ़्तारी की जानकारी उनकी वकील पूजा सिंह ने दी. पूजा ने बताया कि उनकी गिरफ़्तारी के दौरान SIT ने चिन्मयानंद के सगे-संबंधियों से गिरफ़्तारी मेमो पर हस्ताक्षर भी कराए. पूजा सिंह ने SIT पर आरोप लगाया है कि उन्होंने आरोप पत्र की प्रति और प्राथमिकी की प्रति सहित कई प्रपत्र मांगे थे लेकिन एसआईटी ने उन्हें ये प्रपत्र नहीं दिए. 

Source: patrika

बीते बुधवार को चिन्मयानंद को ख़राब तबियत के हवाला देते ज़िला अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इसके बाद उन्हें गुरुवार शाम शाहजहांपुर मेडिकल कालेज से केजीएमयू के लिए रेफ़र कर दिया गया था. लेकिन वो केजीएमयू जाने के बजाय सीधे अपने मुमुक्षु आश्रम चले गए. इसी आश्रम से उन्हें आज सुबह गिरफ़्तार किया गया.