दुनियाभर के 213 देश कोरोना महामारी से परेशान हैं. वैज्ञानिक कई महीनों से वैक्सीन की खोज में लगे हुए हैं, फिर भी सफ़लता हाथ नहीं लग पाई है. वैक्सीन कब तक आ पाएगी इसका अंदाज़ा तो नहीं है, लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्होंने कोरोना को मज़ाक बनाकर रख दिया है.

Source: patrika

कोरोना संकट के बीच कोई मिटटी में लोट-पोट होकर, तो कोई गौ मूत्र के सेवन से कोरोना भगाने का दावा कर रहा है. कोई कहता है कि शरीर पर गोबर का लेप लगाने से कोरोना भाग जायेगा, तो कोई लोगों को 'भाभीजी पापड़' खिलाकर ख़ुद ही कोरोना की पॉज़िटिव हो जाता है.

Source: prabhasakshi

सच कहें तो हमारे देश में नमूनों की कोई कमी नहीं है. इनके पास कोरोना भागने के 101 तरीक़े हैं. इतनी बड़ी महामारी को भी लोग हल्के में ले रहे हैं. वो भी तब जब आप जनता के सेवक हों. इसी तरह का एक गैर ज़िम्मेदाराना बयान बीजेपी नेता इमरती देवी ने भी दिया है.

Source: punjabkesari

मीडिया से बातचीत में इमरती देवी ने कहा-

तुमई थे सिरिफ़ अकेले तुम, जा के अलाबा कोई नई था, तुमने हमें कोरोना बना दौ? इमरती देवी मट्टी में पैदा भई, गोबर में पैदा भई, हम्में इत्ते कर्रे कीटाणु हैं कि कोरोना आस-पास भी नी आ पांगे, वो तो ज़िद ज़बरदस्ती लगाएं हम ई मास्क.  

बता दें कि इमरती देवी मध्यप्रदेश सरकार में 'वुमेन एंड चाइल्ड डेवलपमेंट' मिनिस्टर हैं. हाल ही में कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल होने वाले 22 दागी विधायकों में से एक इमरती देवी भी थीं.