पश्चिम बंगाल में आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर उथल पुथल जारी है. शुवेंदु अधिकारी समेत कई टीएमसी नेता पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल हो चुके हैं.

Source: dnaindia

इस बीच बंगाल से एक अनोखी घटना सामने आई है. बंगाल में बीजेपी के सांसद सौमित्र ख़ान की पत्नी सुजाता मंडल ख़ान ने सोमवार को बीजेपी छोड़ टीएमसी का दामन थाम लिया था. इससे नाराज़ उनके पति सौमित्र ख़ान ने सुजाता को तलाक़ का नोटिस भेज दिया.

Source: aajtak

बता दें कि सौमित्र ख़ान पश्चिम बंगाल में बीजेपी युवा मोर्चा के अध्यक्ष भी हैं. सुजाता मंडल के टीएमसी का दामन थामने पर सौमित्र ने सीएम ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी पर जमकर भड़ास निकालते हुए कहा कि, टीएमसी ने उनका परिवार तोड़ दिया. इसके बाद आज सौमित्र ख़ान ने सुजाता मंडल को तलाक़ का नोटिस भी भेज दिया है.

Source: theprint

इस पर सुजाता मंडल का कहना है कि, 'पार्टी बदलने में पति-पत्नी का रिश्ता कहां से आ गया. मैं साफ़ करना चाहती हूं कि मैंने सौमित्र का बुरा कभी नहीं चाहा, वो अपनी ज़िंदगी में ख़ुश रहें, ख़ूब तरक्की करें यही चाहती हूं. वो मुझे पत्नी मानें या ना मानें मैं अब भी उन्हें अपना पति मानती हूं, उनके नाम का सिंदूर मेरे माथे पर है.'

इसके अलावा सुजाता मंडल ख़ान ने सौमित्र पर आरोप लगाते हुए कहा कि, 'वो हमेशा पार्टी के कार्यों में लगे रहे. पति होने के नाते उन्होंने कभी कोई फ़र्ज़ नहीं निभाया. मैं कहां हूं, किस हाल में हूं क्या कर रही हूं. ये जानना भी उचित नहीं समझा."

Source: abplive

टीएमसी में शामिल होने के बाद सुजाता ख़ान आरोप लगाते हुए कहा कि, मैंने राज्य में पार्टी को ऊपर लाने का काम किया था, लेकिन अब भाजपा में कोई सम्मान नहीं है. एक महिला होने के नाते, मेरे लिए पार्टी में रहना मुश्किल था. 

बीजेपी राज्य में सत्ता के लालची लोगों को पार्टी में शामिल कर रही है. बीजेपी में अवसरवादियों और दागियों को जगह दी जा रही है. पार्टी के पुराने कार्यकर्ताओं को नज़रअंदाज़ किया जा रहा है.