लोकसभा चुनाव अपने आख़िरी चरण में पहुंच चुका है, लेकिन बीजेपी नेताओं की विवादित बयानबाज़ी ख़त्म होने का नाम नहीं ली रही है. पहले प्रज्ञा ठाकुर नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया तो इसके कुछ दिन बाद अनिल सौमित्र ने महात्मा गांधी को 'पाकिस्तान का राष्ट्रपिता' तक कह दिया था.

अब बीजेपी ने इस विवादित बयान पर मध्य प्रदेश बीजेपी के नेता अनिल सौमित्र को निलंबित कर दिया है. पार्टी ने इसके साथ ही उनसे 7 दिन के अंदर जवाब देने को भी कहा है.

Source: legendnews

पिछले कुछ दिनों से नाथूराम गोडसे को लेकर बीजेपी नेताओं द्वारा आए बयानों से हुए विवाद ने देशभर में तूल पकड़ लिया है. भोपाल से भाजपा उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर द्वारा नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताए जाने पर बीजेपी ने पल्ला झाडा़ लिया है. शुक्रवार को प्रज्ञा ठाकुर ने इसके लिए अपने ट्विटर अकाउंट पर माफी मांगी थी.

Source: indiatoday

पीएम मोदी ने एक इंटरव्यू में कहा है कि गांधी या गोडसे के बारे में जो बयान दिए गए हैं वो बेहद ख़राब हैं ये समाज के लिए बहुत गलत हैं. ये अलग बात है की उन्होंने माफ़ी मांग ली, लेकिन मैं उन्हें मन से कभी माफ़ नहीं कर पाऊंगा.

Source: thehindu

इसी कड़ी में प्रज्ञा ठाकुर, केंद्रीय मंत्री अनंत हेगड़े और नलिन कुमार कतील को 10 दिन के अंदर सफाई देने के लिए कहा गया है.

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने ट्वीटर पर दिए गए बयान में कहा कि, 'विगत 2 दिनों में अनंतकुमार हेगड़े, साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर और श्री नलीन कटील के जो बयान आये हैं वो उनके निजी बयान हैं, उन बयानों से भारतीय जनता पार्टी का कोई संबंध नहीं है.

अमित शाह ने आगे कहा है कि 'इन लोगों ने अपने बयान वापिस ले लिए हैं और माफ़ी भी मांगी है. सार्वजनिक जीवन में भारतीय जनता पार्टी की गरिमा और विचारधारा के विपरीत इन बयानों पर पार्टी ने गंभीरता लेते हुए तीनों बयानों को अनुशासन समिति को भेजने का निर्णय किया है'.