बीते मंगलवार को लेबनान की राजधानी बेरूत में हुए एक भारी विस्फोट में क़रीब 100 लोगों के मारे जाने की ख़बर है, जबकि 4,000 से अधिक लोग घायल बताए जा रहे हैं. घायलों की हालत बेहद नाज़ुक बताई जा रही है, ऐसे में मृतकों की संख्या बढ़ सकती है.

Source: indiatoday

लेबनान स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री हमद हसन के मुताबिक़, इस भीषण हादसे में कम से कम 100 लोगों के मारे जाने की संभावना है. ये देश के लिए किसी 'आपदा' से कम नहीं है. इस बीच देश के प्रधानमंत्री आज आपात बैठक करने वाले हैं और माना जा रहा है कि दो सप्‍ताह के लिए देश में आपातकाल लगाया जा सकता है.

Source: splash247

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, ये विस्फोट बेरूत पोर्ट के एक वेयर हाउस में हुआ है. पिछले 6 सालों से पोर्ट पर रखी अत्यधिक विस्फोटक सामग्री की वजह से ये धमाका हुआ है. इस धमाके में बंदरगाह का एक बड़ा हिस्सा और आस-पास की कई इमारतें क्षतिग्रस्त हो गई हैं. इस विस्फ़ोटक को कुछ समय पहले एक जहाज से ज़ब्त किया गया था.

लेबनान के प्रधानमंत्री हसन दिआब ने कहा कि, घटना के दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा. लेबनान के राष्ट्रपति के मुताबिक़, ये धमाका 2750 टन अमोनियम नाइट्रेट की वजह से हुआ, जो बंदरगाह पर 6 सालों से बिना किसी सुरक्षा के रखा हुआ था.

Source: foreignpolicy

'द नेशनल काउंसिल फ़ॉर साइंटिफ़िक रिसर्च' के मुताबिक़, ये भीषण धमाका 'अमोनियम नाइट्रेट' की वजह से हुआ जो पोर्ट के वेयर हाउस में रखा हुआ था. हालांकि, इस मामले में किसी भी आतंकी संगठन का हाथ होने की बात सामने नहीं आ रही है.

Source: twitter

घटना स्थल पर मौजूद अधिकारियों के मुताबिक़, विस्फोट के कई घंटे बाद भी एंबुलेंस घायलों को अस्पताल पहुंचा रही हैं. सेना के हेलीकॉप्टर बंदरगाह पर लगी आग को बुझाने में मदद कर रहे हैं. ये धमाका इतना ज़ोरदार था कि कई किमी दूर लोगों के घरों के शीशे भी टूट गए. इसका गुबार 1.5 किमी दूर तक देखा गया.

इस घटना के कई वीडियो भी सामने आ रहे हैं जो बेहद डरावने हैं-