भारत में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या अभी भी बढ़ रही है. भारत में कुल लगभग 55 लाख से ज़्यादा लोग वायरस की चपेट में हैं और मरने वालों की संख्या 88 हज़ार के पार कर गई है. लेकिन फिर भी लोग लापरवाही से बाज़ नहीं आ रहे हैं और सुरक्षा और सोशल डिस्टेंसिंग के दिशानिर्देशों की खुलेआम धज्जियां उड़ा रहे हैं.

Source: curlytales

ऐसे में देश के कई राज्य फ़ेस मास्क न पहनने के लिए लोगों पर जुर्माना लगा रहे हैं. मुंबई में मास्क नहीं लगाने वालों से 200 रुपये जुर्माना वसूला जाता है. जब से महामारी मुंबई में आई है, बृहन्मुंबई महानगर पालिका (BMC) ने सार्वजनिक रूप से फ़ेस मास्क न पहनने वाले लोगों से 1 करोड़ से अधिक की वसूली की है. सितंबर महीने में बीएमसी ने महज़ तीन दिनों में क़रीब 30 लाख रुपये एकत्र किए. पुणे पुलिस ने मास्क नहीं पहनने और सार्वजनिक रूप से थूकने के लिए एक महीने में 1 करोड़ जुर्माना वसूला था.

मुंबई उन भारतीय शहरों में से एक है जहां कोरोना वायरस मामलों की सबसे अधिक संख्या है. महाराष्ट्र में मामलों की कुल संख्या 33,015 मौतों के साथ लगभग 12.24 लाख है. एन वार्ड के सहायक आयुक्त अजीत कुमार अंबी के मुताबिक़, पहले एक से दो दिन में 10 से 12 लोगों पर जुर्माना लगता था लेकिन अब ये संख्या बढ़कर 60 से 70 हो गई है.

Source: zeebiz

उन्होंने बताया कि महामारी की शुरुआत से अब तक बीएमसी ने 1 करोड़ रुपये जुर्माना वसूल किया है. वहीं, सितंबर महीने के तीन दिनों में 30 लाख रुपये जुर्माना एकत्र किया गया है. अंबी ने कहा कि, ‘इसके पीछे उद्देश्य जुर्माना वसूल करना नहीं बल्कि लोगों को सुरक्षात्मक उपायों को फ़ॉलो करने के लिए प्रेरित करना है.’

बता दें, बीएमसी हर रोज़ एकत्रित कुल जुर्माने में से अपने कर्मचारियों को 10 प्रतिशत प्रोत्साहन भी प्रदान कर रहा है.