राजस्थान से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. सार्वजनिक शौचालय में 17 साल के एक लड़के का बलात्कार कर उसे प्रताड़ित किया गया. दुख़ की बात ये है कि इस बारे में वो अपना माता-पिता से भी कुछ नहीं कह सका क्योंकि शायद वो उसके साथ हुए हादसे को नहीं समझ पाते. इसलिये उसने अपनी आपबीति को सोशल मीडिया पर साझा किया है.

17 वर्षीय लड़का लिखता है कि सड़क पार करते समय वो एक सार्वजनिक शौचालय में गया, जहां मौजूद दो पुरुषों ने उसका बलात्कार किया. दोनों ही आरोपियों ने अपने मुंह को काले रंग के कपड़े से ढका हुआ था. ऐसा नहीं था कि उस दौरान उसने लोगों को मदद के लिये नहीं बुलाया, पर अफ़सोस उस समय वहां मौजूद लोगों ने ऐसा दिखाया कि जैसे वहां कोई है ही नहीं. शौचालय में मौजूद सभी लोगों ने उस लड़के की चीखों को अनसुना कर दिया. इतना ही नहीं, बलात्कार के बाद लोगों ने ऐसा व्यवहार किया, जैसे शौचालय के अंदर कुछ हुआ ही नहीं.

ट्वीट के ज़रिये लड़के ने ये भी बताया कि वो काफ़ी दर्द में था और उसे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि क्या किया जाये. इसलिये वो ख़ुद में तमाम सवाल और दर्द छिपा कर घर चला गया.

सोशल मीडिया पर जानकारी मिलने के बाद कई लोग उसकी मदद को सामने आये. इसके अलावा उसे डॉक्टर्स की मदद भी मिल रही है. वहीं कुछ लोग उसे दवाई वगैरह पहुंचा कर भी सहायता कर रहे हैं.

राजस्थान की इस घटना ने एक बात साफ़ कर दी कि इस देश में सिर्फ़ लड़कियां ही नहीं, बल्कि लड़के भी सुरक्षित नहीं हैं. साथ ही इस घटना के मुजरिम सिर्फ़ वो दो लोग ही नहीं, बल्कि वो सब लोग हैं जिन्होंने उस लड़के की चीखों को अनसुना किया.