अमूमन घरों में झगड़े होते रहते हैं, इसके चलते कई बार परिवार में तनाव की स्थिति उत्पन्न हो जाती है. बिहार के एक 15 साल के बच्चे के घर में भी कुछ ऐसा ही माहौल था. वो बच्चा अपने पेरेंट्स के झगड़ों से इतना परेशान हो गया है कि उसने देश के राष्ट्रपति को चिट्ठी लिख कर ख़ुद का जीवन समाप्त करने की अनुमति मांगी है.

ये पत्र मिलने के बाद राष्ट्रपति भवन का प्रशासनिक अमला हैरान-परेशान हो गया. उन्होंने तुरंत इस लेटर को पीएमओ भेजकर तुरंत एक्शन लेने को कहा है. पीएमओ ने तुरंत एक्शन लेते हुए बिहार के भागलपुर के अधिकारियों को इस संदर्भ में जांच करने और उचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए.

Source: newindianexpress

बच्चा बिहार के भागलपुर ज़िले का रहने वाला है. ज़िले के प्रशासनिक अधिकारियों के मुताबिक, उन्होंने जांच करने पर पाया कि बच्चा बिहार का रहने वाला और फ़िलहाल झारखंड में रह रहा है. यहां उसके पिता एक सरकारी मुलाज़िम हैं. वहीं उसकी मां पटना में एक बैंक में काम करती है.

उन्होंने आगे बताया कि इस पत्र में बच्चे ने लिखा है कि मैं घर में माता-पिता के रोज़-रोज़ के झगड़े से परेशान हूं और इसका असर मेरी पढ़ाई पर पड़ रहा है. इसी के चलते मैं तनाव में हूं.

Source: tribuneindia

लड़के ने ये भी बताया कि उसके पिता कैंसर से पीड़ित हैं और उसकी मां के कहने पर कुछ लोग उसके पिता को धमका रहे हैं. इससे परेशान होकर ही वो अपना जीवन समाप्त करना चाहता है.

मंगलवार को भागलपुर ज़िले के अधिकारियों ने हिंदुस्तान टाइम्स से बात करते हुए कहा कि मामले की जांच चल रही है और क़ानून के अनुसार कार्रवाई की जाएगी.

Source: jagranjosh

अधिकारियों ने आगे की जांच में पाया कि बच्चे के दादा भागलपुर के NTPC में काम करते थे. फ़िलहाल वो अपने पिता के साथ देवघर झारखंड में रहता है. उनके दादा और चाचा ने बच्चे की मां पर झगड़ालू होने का आरोप लगया है. साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि कुछ साल पहले दोनों ने एक-दूसरे पर विवाहेतर संबंध होने के आरोप भी लगाए थे.