किसान आंदोलन के बीच योगगुरु बाबा रामदेव का 'पतंजलि' ब्रैंड एक बार फिर विवादों में घिर गया है. सोशल मीडिया पर हज़ारों यूज़र्स पतंजलि का ज़ोरदार तरीक़े से बायकॉट कर रहे हैं. इस बीच ट्विटर पर #BoycottPatanjali ट्रेंड ख़ूब कर रहा है.

Source: twitter

किसान आंदोलन को लेकर मोदी सरकार को आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है. किसान लगातार केंद्र सरकार पर अंबानी, अडानी और बाबा रामदेव जैसे उद्योगपतियों को फ़ायदा पहुंचाने का आरोप लगा रहे हैं.

वहीं देश के हर मुद्दे पर अपनी बेबाक़ राय रखने वाले बाबा रामदेव 'किसान आंदोलन' पर चुप्पी साधे बैठे हैं. ऐसे में किसानों ने पतंजलि आयुर्वेद को भी निशाने पर लिया है. पिछले दिनों पतंजलि के शहद में मिलावट की बात सामने आने के बाद लोगों ने पतंजलि के प्रोडक्ट्स का बायकॉट करना शुरू कर दिया था.

Source: twitter

अब ये आग सोशल मीडिया तक पहुंच गई है.

शहद पर उठे थे सवाल 

इसी माह की शुरुआत में पतंजलि की शहद पर 'सेंटर फ़ॉर साइंस एंड एनवायरनमेंट' (CSE) ने सवाल खड़े किए थे. CSE की ओर से शहद की मिलावट को लेकर एक रिपोर्ट जारी की गई थी, जिसमें बताया गया था कि आजकल कई बड़े ब्रांड शहद में मिलावट कर रहे हैं. हालांकि, पतंजलि ने इसका खंडन किया था.

बता दें कि पतंजलि आयुर्वेद के उत्पाद आटा नूडल्स, आंवला जूस और कोरोनिल को लेकर भी सवाल उठ चुके हैं. इसके अलावा भी पतंजलि को खाद्य तेलों के भ्रामक प्रचार को लेकर कंपनी को नोटिस भी मिल चुका है. 

इन्हीं सब कारणों को लेकर सोशल मीडिया यूज़र्स ने पतंजलि के प्रोडक्ट्स को लेकर Memes की बरसात कर दी है.