कोरोना वायरस को ‘सामान्य फ़्लू’ बताने वाले ब्राज़ील के राष्ट्रपति जाएर बोलसोनारो ख़ुद संक्रमण की चपेट में आ गए हैं. तेज़ बुख़ार और कोरोना संक्रमण के दूसरे लक्षण पाए जाने के बाद सोमवार को उनका टेस्ट हुआ, जिसकी रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है. हालांकि, मास्क पहनने की अनिवार्यता, लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के विरोध में रैलियां निकालने वाले राष्ट्रपति बोलसोनारो संक्रमित होने के बाद भी सुधरे नही हैं.

Source: brusselstimes

दरअसल, प्रेस कॉन्फ़्रेंस के दौरान भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया गया. उन्होंने कहा कि बहुत हल्के लक्षण हैं बाकी वो पूरी तरह स्वस्थ हैं. चौंकाने वाली बात ये रही कि मीडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने अपना मास्क निकालते हुए कहा, ‘मैं ठीक हूं, मेरा चेहरा देखो.’

इस गैर-ज़िम्मेदाराना रवैये को लेकर राष्ट्रपति बोलसोनारो की काफ़ी आलोचना हो रही है. सोशल मीडिया पर भी लोगों ने उन्हें जमकर आड़े हाथ लिया.

राष्ट्रपति बोलसोनारो लगातार कोरोना से जुड़ी गाइडलाइंस की धज्जियां उड़ाते पाए गए हैं. वो कई बार बिना मास्क के सार्वजनिक स्थानों पर शरीक हो चुके हैं. उन्होंने यहां तक बयान दिया था कि अगर कोरोना संक्रमण हुआ भी तो उन्हें इसकी परवाह नहीं होगी क्योंकि अधिक से अधिक उन्हें वैसा अनुभव होगा जैसा सर्दी ज़ुकाम होने पर होता है.

Source: cnn

ज़ाहिर है कि उनकी और उन जैसों की इसी सोच का नतीज़ा है कि जिस समय राष्ट्रपति ने ये बयान दिया था, उस वक़्त ब्राज़ील में महज़ 40 हज़ार के आस-पास संक्रमितों की संख्या थी. वहीं, आज सबसे ज़्यादा कोरोना पॉज़िटिव मामलों की लिस्ट में ब्राज़ील दुनिया में दूसरे नंबर पर है.

ब्राज़ील 210 मिलियन की आबादी के साथ दुनिया का छठा सबसे ज़्यादा जनसंख्या वाला देश है. यहां कुल 1,674,655 कोरोना की चपेट में आ चुके हैं, जबकि 66 हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.