दिल्ली से एक बेहद निराशाजनक तस्वीर सामने आई है. बेहद निराशाजनक फ़ोटो में आप भारत-पाक युद्ध के वीर ब्रिगेडियर मोहम्मद उस्मान की क़ब्र को टूटा-फ़ूटा देख सकते हैं. 1947-48 में हुए भारत-पाक युद्ध के दौरान देश के लिये लड़ते हुए ब्रिगेडियर उस्मान शहीद हो गये थे. ब्रिगेडियर की बहादुरी के लिये उन्हें 'नौशेरा का शेर' टैग भी दिया गया था.

usmans
Source: clarionindia

अब वहीं कुछ अज्ञातों बदमाशों द्वारा उनकी क़ब्र को नुक़सान पहुंचाया गया है. .युद्ध के मैदान में देश के लिये जान न्योछावर करने वाले शहीद उस्मान की कब्र दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के अंदर है. इसलिये इसे लेकर सेना ने जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय पर सवाल भी उठाये हैं. भारतीय सेना का कहना है कि ब्रिगेडियर उस्मान की क़ब्र के रख-रखाव के लिये जामिया यूनिवर्सिटी को ज़िम्मेदार होना चाहिये. इसके अलावा सेना की ओर से ये भी साफ़ किया गया है, कि अगर वो लोग इसकी देखभाल नहीं कर सकते हैं, तो सेना रख-रखाव के लिये पूरी तरह से तैयार है.

indian army
Source: DG

'नौशेरा का शेर' के क़ब्र की बुरी हालत ने सभी को निराश किया है, ख़ास कर भारतीय सेना के लोग इस काफ़ी नाराज़ हैं. इसलिये Director-General of Military Operations के पूर्व लेफ़्टिनेंट जनरल विनोद भाटिया समेत कई लोगों के फ़ौरन क़ब्र के मरम्मत की मांग की है. इसके अलावा उनको अवशेषों को दिल्ली छावनी क्षेत्र में स्थानांतरित करने की मांग भी की गई है.  

देशवासियों बस एक ही निवेदन है कि कुछ भी करें. देश के वीरों का अपमान न करें. घटना काफ़ी निदंनीय है.