पिछले एक साल से पूरी दुनिया कोरोना वायरस के कहर से झूझ रही है. दुनियाभर में अब तक 6 करोड़ 80 लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं जबकि 15 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. इस बीच ब्रिटेन से पूरी दुनिया के लिए एक अच्छी ख़बर सामने आई है.  

Source: aljazeera

ब्रिटेन में पहली बार कोरोना वैक्सीन दिए जाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है. इस दौरान ब्रिटेन के कोवेंट्री की रहने वाली 90 वर्षीय मार्गरेट कीनन कोरोना की वैक्सीन लगाने वाली दुनिया की पहली मरीज़ बन गई हैं. मार्गरेट को मंगलवार सुबह 6.45 बजे कोवेंट्री के University Hospital में टीका लगाया गया. 

Source: abplive

90 वर्षीय मार्गरेट कीनन के बाद वार्विकशायर के रहने वाले 81 वर्षीय विलियम शेक्सपियर कोरोना वैक्सीन पाने वाले दूसरे शख़्स थे.   

Source: bbc

बात दें कि ब्रिटिश सरकार ने पिछले हफ़्ते ही Pfizer को कोरोना वैक्सीन के तौर पर मंज़ूरी दी थी. ब्रिटेन में लोगों को कोरोना वैक्सीन दिए जाने की प्रक्रिया आधिकारिक तौर पर शुरू हो चुकी है. इस दौरान 80 साल या उससे अधिक उम्र के लोगों के अलावा कुछ स्वास्थ्य और देखभाल कर्मचारियों का टीकाकरण किया जाएगा.  

Source: sandiegouniontribune

कोरोना वैक्सीन लगाए जाने के बाद मार्गरेट कीनन ने कहा, 'दुनिया में कोरोना वायरस की पहली वैक्सीन लेते हुए मुझे विशेषाधिकार महसूस हुआ है. ये मेरे लिए सबसे अच्छा जन्मदिन है. अब मैं नए साल में अपने परिवार और दोस्तों के साथ समय बिताने के लिए तैयार हूं. मैं सभी कर्मचारियों का शुक्रिया अदा करना चाहती हूं, जिन्होंने मेरा ख़याल रखा'.  

Source: aljazeera

ब्रिटेन कोरोना वैक्सीन का इस्तेमाल करने वाला दुनिया का पहला देश बन गया है. इस दौरान देश के केयर होम्स में रहने वाले लोगों और कर्मचारियों को वैक्सीन लगेगी. इसके बाद 80 साल से ऊपर के बुजुर्ग और स्वास्थ्यकर्मियों को लगाई जाएगी. फिर 75 साल से ऊपर के बुजुर्गों को वैक्सीन दी जाएगी.फिर 70 साल और फिर 65 साल से ऊपर के लोगों को वैक्सीन मिलेगी. इसके बाद 18 से 65 साल वाले वो लोग, जिनमें ज़्यादा जोखिम है, उन्हें वैक्सीन के दायरे में रखा जाएगा. फिर 18 से 65 साल के वो लोग जिनमें रिस्क थोड़ा कम है, उन लोगों को वैक्सीन लगेगी.