बीते 3 सितबंर लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग में एक निंदनीय दृश्य देखने को मिला. रिपोर्ट्स के अनुसार, लंदन में कुछ पाकिस्तानी समर्थकों ने भारतीय दूतावास के बाहर प्रदर्शन करते हुए ख़ूब गंदगी फैलाई थी. पाकिस्तानी समर्थकों ने परिसर के बाहर अंडे, टमाटर और कूड़ा डालकर उसे गंदा कर दिया था. यही नहीं, प्रदर्शनकारियों ने भारतीय उच्चायोग की कई खिड़कियां भी तोड़ डाली थी.

पाकिस्तानी समर्थकों की इस बचकानी हरक़त की हर तरफ़ ख़ूब निंदा भी हुई और भारतीयों की तारीफ़. दरअसल, भारतीय उच्चायोग के बाहर हुई गंदगी देख भारतीय उच्चायुक्त रुचि घनश्याम और डिप्टी हाई कमिश्नर चरणजीत सिंह ने स्वच्छता की ओर कदम बढ़ाया. जिसके चलते वो ख़ुद ही भवन की सफ़ाई करने में जुट गये. बस इसके बाद क्या था, बाकि लोग भी उनकी मदद को सामने आये और सबने मिलकर परिसर को चमका डाला.

सबूत के तौर पर ये तस्वीर देखियेगा:

क्योंकि प्रदर्शनकारियों ने दीवारों को अंडे और टमाटर से गंदा किया था, इसलिये उस पर दाग़-धब्बे पड़ गये थे. दीवारों पर पड़े इन दाग़ों को लोगों ने रगड़ कर छुटाया. इस बारे में लंदन में मौजूद ऑडिट डायरेक्टर गौरव महना का कहना है कि वो लोग शांति से दुनिया को ख़ास संदेश देना चाहते हैं. गौरव महना के इस संदेश के अनुसार, हम भारतीय अपने घर की सफ़ाई ख़ुद सकते हैं. इसके साथ ही किसी का घर भी गंदा नहीं करते.

वहीं रुचि घनश्याम ने इस नेक कदम को गांधीजी के सिद्धांतों का पालन करना बताया है.

हांलाकि, इससे पहले 15 अगस्त को भी पाकिस्तानी सर्मथकों ने धरना-प्रदर्शन किया था, जिसमें दो लोगों को गिरफ़्तार भी किया गया था. ख़ैर, लंदन में रहकर भारतीयों ने पूरी दुनिया को जो मैसेज दिया है, उस पर सभी हिंदुस्तानियों को गर्व है. हम हिंदुस्तानी जहां भी रहें गंदगी हटा कर सफ़ाई करते रहेंगे, तुम चाहे जितना कूड़ा फ़ैलाओ.

Well Done Indians!