बुलंदशहर हिंसा के 6 आरोपियों को बीते शनिवार को ज़मानत मिली. हिंसा के मुख्य आरोपी, शिखर अग्रवाल समेत अन्य आरोपियों का लोगों ने कुछ इस तरह स्वागत किया जैसे किसी हीरो का किया जाता है. 'भारत माता की जय', 'वन्दे मातरम्', 'जय श्री राम' के नारों के बीच सभी आरोपियों को फूलों की माला भी पहनाई गई.

Bulandshahr violence
Source: Indian Express

India Today की रिपोर्ट के अनुसार समर्थकों ने ज़ोरदार स्वागत करने के साथ तस्वीरें निकाली जो सोशल मीडिया पर वायरल हो गईं.

जिन 6 आरोपियों को ज़मानत दी गई उनके नाम हैं, जीतू फ़ौजी, शिखर अग्रवाल, उपेंद्र सिंह राघव, हेमु, सौरभ और रोहित राघव. जैसे ही ये लोग बाहर आए समर्थकों ने ज़बरदस्त नारेबाज़ी की और ख़ुशियां मनाईं.


NDTV इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, शिखर अग्रवाल भाजपा युवा मोर्चा के स्याना के पूर्व अध्यक्ष हैं और उपेंद्र सिंह राघव अंतर्राष्ट्रीय हिन्दू परिषद के विभाग अध्यक्ष हैं.

Bulandshahr Violence pictures
Source: Parliamentarian

The Hindu की एक रिपोर्ट के मुताबिक़, पिछले साल दिसंबर में उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर के स्याना में गाय के कंकाल मिलने के बाद हिंसा भड़क गई थी. इस हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और विरोध प्रदर्शन कर रहे सुमित की मौत हो गई थी. हिंसा में काफ़ी पत्थरबाज़ी हुई, गोलियां चली थी जिससे दो लोगों की मौत हो गई और कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया.


पूरे मामले की जांच करने के लिए SIT का गठन किया गया. मार्च 2019 में SIT ने स्थानीय अदालत में 38 लोगों के ख़िलाफ़ चार्जशीट दायर की. इन 38 में से 5 पर सुबोद कुमार सिंह के मर्डर का चार्ज लगाया गया था.