यमन में क़रीब 6 से साल से गृह युद्ध जारी है. इसका नकारात्मक असर देश की अर्थव्यवस्था पर भी पड़ रहा है. ऐसे नाज़ुक हालात में किसी महिला द्वारा कोई बिज़नेस शुरू करना बड़ा ही रिस्की साबित हो सकता है. लेकिन यमन की Um Feras ने ये रिस्क लिया और खड़ा कर दिया यमन का पहला कैफ़े जिसे महिलाएं चलाती हैं सिर्फ़ महिलाओं के लिए.

Um Feras के इस कैफ़े का नाम Morning Icon कैफ़े है जो यमन के मारिब इलाके में बना है. यहां काम करने वाली महिलाएं हैं और इसमें महिलाओं और बच्चों को आने की अनुमति है.

 Morning Icon cafe
Source: news18

इस कैफ़े में कॉफ़ी और इम्पोर्टेड ड्रिंक्स सर्व की जाती है. साथ में यहां आने वाले कस्टमर को मुफ़्त में इंटरनेट इस्तेमाल करने दिया जाता है. इसकी स्थापना Um Feras ने पिछले साल अप्रैल में की थी. इस कैफ़े को खोलने का मकसद ये है कि वो समाज को बताना चाहती थी कि महिलाएं भी किसी बिज़नेस चेन को अच्छे रन कर सकती हैं. उनका इरादा आने वाले दिनों में बच्चों और महिलाओं के लिए ऐसे ही कुछ और कैफ़े खोलना है.

 Morning Icon cafe
Source: hindustantimes

Um Feras ने यमन में रहते हुए ये नोटिस किया कि यहां पर महिलाओं के लिए ऐसा कोई स्थान नहीं है जहां वो कुछ वक़्त चैन से बिता सकें. इसलिए उन्होंने ये कैफ़े खोला. यमन में ऐसे बहुत से लोग हैं जो घर में ही रहने की सोच रखते हैं. वो हमेशा घर से बाहर निकल काम करने वाली महिलाओं का विरोध करते हैं.

 Morning Icon cafe
Source: hindustantimes

लेकिन Um Feras अपने इरादे की पक्की थीं. वो महिलाओं के लिए कुछ करना चाहती थीं. इसलिए वो कभी किसी चीज़ से नहीं डरीं. उनके मुल्क़ में जैसे हालात हैं, उसे देख कर तो कोई भी महिला बहुत जल्द हार मान जाती. लेकिन वो अच्छे से इस कैफ़े को चला रही हैं. हां उन्हें, आए दिन गर्त में जाती देश की अर्थव्यवस्था के चलते कई मुश्किलों को सामना करना पड़ता. 

वाकई में Um Feras यमन में रहने वाली तमाम महिलाओं के लिए प्रेरणा की स्रोत हैं.