ट्रेन में सफ़र के दौरान सबसे ज़्यादा परेशानी उन लोगों को उठानी पड़ती है, जिनका टिकट कन्फ़र्म नहीं हो पाता. रेलवे विभाग आरक्षित सीटों की लिस्ट यात्रा के लगभग 4 घंटे पहले जारी करता है, ऐसे में लोगों के पास इतना वक़्त नहीं होता कि वो दूसरी कोई व्यवस्था कर पाएं.

रेलवे विभाग आपकी इन्हीं परेशानियों को समझते हुए 1 जुलाई से रेल यात्रा के नियमों में बड़े बदलाव करने जा रहा है.

आइये हम आपको बताते हैं कि रेलवे के किन नियमों में हुए हैं बदलाव और उनका आपको क्या लाभ मिलेगा?

1. तत्काल टिकट को कैंसिल करने पर 50% पैसा रिफंड

अब तक आप तत्काल टिकट कैंसिल करते थे, तो आपको कोई रिफंड नहीं मिलता था. मगर 1 जुलाई से तत्काल टिकट कैंसिल करने पर आपको टिकट मूल्य का 50% पैसा रिफंड के रूप में मिलेगा. हालांकि, रेलवे इसके लिए AC-2 पर 100 रुपये, AC-3 पर 90 रुपये और Sleeper Class पर 60 रुपये एक पैसेंजर की दर से कैंसिलेशन चार्ज लेगा.

2. तत्काल टिकट के बुकिंग समय में परिवर्तन 

1 जुलाई से रेलवे के तत्काल टिकट की बुकिंग के समय में भी परिवर्तन हो रहा है. अब AC कोच के लिए तत्काल टिकट की बुकिंग सुबह 10 से 11 होगी और स्लीपर कोच के लिए तत्काल टिकट की बुकिंग का समय सुबह 11 से 12 के बीच होगा.   

3. रिफंड के लिए नहीं भरना पड़ेगा फ़ॉर्म

अब तक ट्रेन कैंसिल होने पर रिफंड के लिए ई-टिकट वालों को टिकट डिपॉज़िट फ़ॉर्म भरना पड़ता था. लेकिन अब आपका पैसा सीधे आपके एकाउंट में आ जाएगा. इसके अलावा अब आप RAC टिकट ट्रेन निकलने के आधा घंटा पहले तक कैंसिल करवा सकते हैं.

4. कई भाषाओं में जारी होंगे टिकट

रेलवे अब तक सिर्फ़ अंग्रेज़ी भाषा में टिकट जारी करता है. मगर जुलाई से कई अन्य भाषाओं में भी टिकट दिए जायेंगे. इसमें अपनी मनपसंद भाषा का चुनाव आपको टिकट बुक करते समय ही करना होगा.

5. राजधानी और शताब्दी ट्रेनों में बढ़ाए जाएंगे कोच

ये ख़बर राजधानी और शताब्दी ट्रेनों में सफ़र करने वालों के लिए सुकून भरी हो सकती है. इन ट्रेनों में Waiting List अक्सर लम्बी होने के कारण लोगों को असुविधा होती थी. लेकिन जुलाई से इन दोनों ट्रेनों में कोचों की संख्या बढ़ाई जाएगी.

6. वेटिंग लिस्ट का खेल ख़त्म, अब मिलेगा सिर्फ़ कन्फ़र्म टिकट

लम्बी दूरी की ट्रेनों में जुलाई से वेटिंग लिस्ट का झंझट ख़त्म होने वाला है. यात्रियों को अब रेलवे उतने ही टिकट देगा जितनी सीट कन्फ़र्म या RAC मिल सकेंगी. इसके अलावा सुविधा ट्रेनों में भी अब सभी टिकट कन्फ़र्म मिलेंगे.

7. राजधानी और शताब्दी में अब पेपरलेस टिकट की शुरुआत

भारतीय रेलवे जल्द ही पेपरलेस टिकट की व्यवस्था करने वाला है और इसकी शुरुआत जुलाई से राजधानी और सुविधा ट्रेनों में की जाएगी. इस व्यवस्था के बाद टिकट सिर्फ़ मोबाइल पर मैसेज और ईमेल के ज़रिये भेजा जाएगा.

8. बिना आधार कार्ड नहीं मिलेगा कोटा वाला टिकट

रेलवे में कई तरह के कोटा के तहत रियायती दरों पर टिकट लेने की सुविधा भी है. लेकिन जुलाई से इस सुविधा का लाभ उन्हीं लोगों को मिलेगा, जिनके पास आधार कार्ड होगा. टिकट ऑनलाइन हो या ऑफ़लाइन, आपको आधार नंबर देना पड़ेगा.

तो अब हो जाइये ख़ुश, क्योंकि धीरे-धीरे ही सही मगर भारतीय रेलवे के नियमों में इन बदलावों से यात्रियों की सुविधा बढ़ेगी और टिकट कैंसिल करने पर जेब पर बोझ भी कम पड़ेगा.