टेक्नॉलॉजी के क्षेत्र में चीन हमेशा से ही कुछ न कुछ अलग करते आया है. इस बार चीन ने एक ऐसी 'सुपरफ़ास्ट ट्रेन' बनाई है, जो बिना पहिये के 620 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से ट्रैक पर दौड़ सकती है. चीन की ये Floating Train (बिना पहिया की ट्रेन) इन दिनों लोगों के आकर्षण के केंद्र बनी हुई है.

चीन के शिन्हुआ न्यूज़ की ख़बर के मुताबिक़, चीन ने हाल ही में अपनी एक नई हाई-स्पीड 'मैग्लेव ट्रेन' लॉन्च की है. बिना पहिये वाली ये ट्रेन 620 Kmph की स्पीड से दौड़ने में सक्षम है. ट्रेन बनाने वाले साइंटिस्ट और शोधकर्ता इसकी स्पीड को 800 Kmph तक बढ़ाने पर काम कर रहे हैं.

चीन की 'जियाओतोंग यूनिवर्सिटी' के वैज्ञानिकों ने ये स्पेशल तैयार की है. बिना पहिये वाली इस 'मैग्नेटिक लेविटेशन ट्रेन' को 'हाई टेम्प्रेचर सुपरकंडक्टिंग' (HTS) तकनीक के साथ डेवलप किया गया है, जो मैग्नेट की मदद से ट्रैक पर दौड़ती है. मैग्नेटिक ट्रैक की वजह से ही ये ट्रेन तेज़ रफ़्तार से दौड़ती है. 69 फ़ुट लंबी इस ट्रेन को देखकर ऐसा लगता है मानो ये ट्रैक पर तैरती हुई जा रही हो.

चीन के चेंग्डु में इस हाई-स्पीड 'मैग्लेव ट्रेन' का अनावरण बड़ी धूमधाम से किया गया. हालांकि, इसके ऑपरेशन (आम लोगों के इस्तेमाल में) में अब भी कुछ समय लग सकता है. शोधकर्ता अगले 3 से 10 सालों में इसे पूरी तरह से चालू करने की उम्मीद कर रहे हैं. 

नई 'मैग्लेव ट्रेन' चलाने के पीछे चीन का मकसद अपने लोगों को फ़ास्ट मोबिलिटी ऑप्शन की सुविधा देना है. 620 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से चलने वाली इस ट्रेन की मदद से लंदन से पेरिस सिर्फ़ 47 मिनट में पहंचा जा सकता है.