शौक बड़ी चीज़ है! किसी को घूमने का तो किसी को अलग-अलग चीज़ें कलेक्ट करने का शौक होता है. फिर चाहे वो पुराने सिक्के हों या फिर स्टाम्प. लेकिन ओडिशा की एक लड़की को इन सब से हटकर एक अजीब शौक है. वो अलग-अलग देशों के 'माचिक के डब्बे' कलेक्ट करती है.

Source: twitter

भुवनेश्वर की रहने वाली तीसरी क्लास की स्टूडेंट दिव्यांशी अब तक अलग-अलग देशों के 5,000 से अधिक माचिस के डब्बे इक्ट्ठा कर चुकी हैं. वो पिछले तीन सालों से इन्हें कलेक्ट कर रही है. दिव्यांशी के पास नेपाल, पोलैंड, भूटान, जापान, बांग्लादेश समेत दुनिया के अलग-अलग देशों के माचिस के डब्बों का कलेक्शन है. 

Source: twitter

हालांकि दिव्यांशी कभी ख़ुद विदेश नहीं गई है, लेकिन जब भी कोई रिश्तेदार विदेश से आता है, तो वो उन्हें माचिस का एक डब्बा लाने को बोल देती है. 

उसने बताया, ‘जब मेरे रिश्तेदार और दोस्त विदेश जाते हैं तो वे मेरे लिए माचिस लाते हैं. मैंने अब तक 5,000 से अधिक माचिस इकट्ठी की हैं. मैं अपने फ़्री टाइम में इन्हें सही से लगाती हूं और मेरे पेरेंट्स इसमें मदद करते हैं.’

Source: twitter

दिव्यांशी ने बताया कि उसे ये शौक अपने पिता की वजह से लगा है. उसने कहा, ‘मेरे पिता एक वन्यजीव फ़ोटोग्राफ़र हैं. वो अक्सर यात्रा करते हैं और वापसी में माचिस का डब्बा लेकर आते हैं. फिर मैंने इसे इकट्ठा करना शुरू कर दिया. मैंने उन्हें विभिन्न विषयों के अनुसार व्यवस्थित किया है.’